इस्लामाबाद, एजेंसी। पाकिस्तान में सोमवार को एक नया राष्ट्रव्यापी एंटी-पोलियो अभियान शुरू किया गया। ये अभियान बच्चों में तेजी से पोलियो के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए शुरू किया गया है। इस बात की जानकारी स्वास्थ्य अधिकारियों ने दी।

बता दें कि यह इस साल का छठा अभियान है और पांच दिनों तक चलेगा, जिसका लक्ष्य उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को टीका लगाना है।

यह भी पढ़ें- Pakistan Army: सेना ने जनरल बाजवा के रिश्तेदारों की अवैध संपत्ति को लेकर रिपोर्ट्स को किया खारिज

नवीनतम ड्राइव का उद्देश्य इस्लामाबाद और पूर्वी पंजाब और दक्षिण-पश्चिमी बलूचिस्तान प्रांत में उच्च जोखिम वाले जिलों में था। वहीं, ऐसा ही अभियान दिसंबर के पहले सप्ताह में उत्तर पश्चिम में चलाया जाएगा।

टीकाकरण अभियान के लिए नियुक्त कार्यकर्ताओं और पुलिस पर हमलों के बावजूद पाकिस्तान नियमित रूप से पोलियो अभियान चलाता है। उग्रवादी झूठा दावा करते हैं कि टीकाकरण अभियान बच्चों की नसबंदी करने की एक साजिश है।

अप्रैल के बाद से पाकिस्तान में पोलियो के 20 नए मामले दर्ज किए गए हैं और इसके प्रकोप को बीमारी के उन्मूलन के प्रयासों के लिए एक झटके के रूप में देखा गया है, जो बच्चों में गंभीर पक्षाघात का कारण बन सकता है।

बता दें कि पाकिस्तान पिछले साल पोलियो की बीमारी को खत्म करने के करीब पहुंच गया था, जब केवल एक मामला सामने आया था। तब से उत्तर पश्चिम में नए मामले दर्ज किए गए हैं, जिससे सरकार को पूरे देश में उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में छोटे अंतराल पर पोलियो विरोधी अभियान शुरू करने पड़े। इस तरह का आखिरी अभियान इस महीने की शुरुआत में शुरू किया गया था।

यह भी पढ़ें- Accident In PoK: गुलाम कश्मीर में 300 मीटर गहरे नाले में गिरी जीप, दर्दनाक हादसे में 6 महिलाओं की मौत व 8 घायल

पाकिस्तान के पोलियो विरोधी अभियानों को बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन का भी समर्थन प्राप्त है, जिसने पिछले महीने दुनिया भर में पोलियो को खत्म करने के प्रयास के लिए 1.2 अरब डालर देने का वादा किया था। 2026 तक वैश्विक पोलियो उन्मूलन पहल की रणनीति के लिए धन का उपयोग किया जाएगा।

फाउंडेशन ने पिछले महीने कहा था, इस पहल का उद्देश्य पिछले दो स्थानिक देशों पाकिस्तान और अफगानिस्तान में पोलियो वायरस को समाप्त करना है।

Edited By: Versha Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट