इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। वहां के  विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कश्मीर मुद्दे की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारियों को एक बार फिर पत्र लिखा है। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने सोमवार को कहा कि मंत्री ने इस पत्र को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रेसीडेंट और संयुक्त राष्ट्र महासचिव को संबोधित किया है।

नियमित रूप से सुरक्षा परिषद के प्रेसीडेंट और संयुक्त राष्ट्र महासचिव को पत्र लिख रहे कुरैशी ने अपने नवीनतम पत्र में सुरक्षा परिषद से भारत से जम्मू कश्मीर पर किए गए फैसलों को पलटने का आह्वान करने का आग्रह किया, जिसमें पांच अगस्त, 2019 और उसके बाद के कदम भी शामिल हैं।

5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द करने के लिए भारत द्वारा संविधान के अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से स्पष्ट रूप से कहा है कि अनुच्छेद 370 को खत्म करना उसका आंतरिक मामला है। साथ ही पाकिस्तान को वास्तविकता को स्वीकार करने और भारत विरोधी सभी प्रचार को रोकने की भी सलाह दी।

विदेश कार्यालय ने बताया, अपने पत्र में कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान रचनात्मक रूप बातचीत के लिए तैयार था, लेकिन इस बात पर जोर दिया कि परिणाम आधारित बातचीत के लिए एक सक्षम वातावरण बनाने का दारोमदार भारत पर है। बता दें कि भारत ने पाकिस्तान से कहा है कि वह आतंक, शत्रुता और हिंसा से मुक्त वातावरण में इस्लामाबाद के साथ सामान्य पड़ोसी संबंध चाहता है।

Edited By: Monika Minal