मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

इस्लामाबाद, आइएएनएस। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने से पाकिस्तान पहले से ही बौखलाया हुआ है, लेकिन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद इमरान खान के नेता चिढ़ गए हैं। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के इस बयान की आलोचना की है जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान के साथ बातचीत केवल गुलाम कश्मीर के मसले पर ही की जाएगी।

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा कि हमने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का बयान देखा है। यह बताता है कि कश्मीर को लेकर भारत ने जो फैसला लिया है उसके बाद वह खुद को कठिन स्थिति में पा रहा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद समेत विश्व समुदाय ने कश्मीर के हालात का संज्ञान लिया है। कुरैशी के बयान के विपरीत सच्चाई यह है कि सुरक्षा परिषद ने कश्मीर को लेकर कोई औपचारिक बयान तक जारी नहीं किया है।

कुरैशी ने कहा कि कश्मीर पर पाकिस्तान की स्थिति संयुक्त राष्ट्र चार्टर के सिद्धांतों और अंतरराष्ट्रीय कानून पर आधारित है और ये आगे भी बनी रहेगी। कश्मीर विवाद को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के आधार पर और कश्मीरी लोगों की इच्छा के अनुसार ही तय करने किया जाएगा।

दरअसल, रक्षा मत्री राजनाथ सिंह ने हरियाणा में एक जनसभा में जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने का जिक्र कर रहे थे। राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारे पड़ोसी अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का दरवाजा खटखटाते हुए कह रहे हैं कि भारत ने गलती की है। गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में कहा था कि पीओके और अक्साई चीन कश्मीर का हिस्सा हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर पाकिस्तान के साथ बातचीत होती है, तो वह अब पीओके पर ही होगी।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप