लाहौर, पीटीआइ। पाकिस्तान में एक अधिकारी द्वारा बताया गया कि आतंकवाद निरोधक अदालत (Anti-Terrorism Court) 2 सितंबर को मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद के खिलाफ लगे आतंकी वित्तपोषण के आरोपो पर सुनवाई करेगा। अभी दो दिन पहले ही पाकिस्तान के आतंक रोधी विभाग (सीटीडी) ने अदालत में चार्जशीट दाखिल कर मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को आतंकी फंडिंग का दोषी करार दिया है।

हाफिज सईद 17 जुलाई से जेल में है। उसका मामला पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुजरांवाला से गुजरात की आतंक रोधी अदालत में भेज दिया गया है। सीटीडी के एकअधिकारी ने बताया था कि सईद को बुधवार को लाहौर से करीब 80 किमी दूर गुजरांवाला की आतंक रोधी अदालत (एटीसी) में पेश किया गया।

अदालत में दाखिल किए गए आरोपपत्र में उसे आतंकी फंडिंग का दोषी बताया गया है। बताया गया, 'यह मामला पंजाब प्रांत के मंडी बहाउद्दीन से जुड़ा हुआ है। इसलिए अभियोजक ने मामले को लाहौर से 200 किमी दूर गुजरात की एटीसी अदालत भेजने का आग्रह किया। इस आग्रह पर एटीसी गुजरांवाला ने मामला एटीसी गुजरात स्थानांतरित कर दिया। मामले की अगली सुनवाई की तारीख एटीसी गुजरात तय करेगी।' आतंक रोधी अदालत ने सीटीडी को बुधवार को सईद के खिलाफ पूर्ण चार्जशीट दाखिल करने का आदेश दिया था।

सईद पर 23 मामले दर्ज

पंजाब प्रांत की पुलिस के सीटीडी ने गत तीन जुलाई को सूबे के कई शहरों में सईद और उसके 12 साथियों के खिलाफ आतंकी फंडिंग के 23 मामले दर्ज किए थे।

सईद पर 70 करोड़ का इनाम

वर्ष 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को अमेरिका ने वैश्विक आतंकी घोषित कर रखा है। अमेरिका ने 2012 से उस पर एक करोड़ डॉलर (करीब 70 करोड़ रुपये) का इनाम रखा है। इस हमले में 166 लोगों की जान गई थी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप