रावलपिंडी (एएनआई)। पाकिस्तान ने गुरुवार को स्वचालित रूप से विकसित पनडुब्बी क्रूज मिसाइल (एसएलसीएम) 'बाबर' का सफल परीक्षण आयोजित किया। मिसाइल को अंडरवाटर डायनेमिक प्लेटफॉर्म से प्रक्षेपित किया गया जो सफलतापूर्वक फ्लाइट के सभी पैमानों पर खरा उतरते हुए अपने लक्ष्य तक पहुंच गया। आइएसपीआर के द्वारा जारी प्रेस रिलीज से ये बात सामने आई है।

एसएलसीएम बाबर विभिन्न प्रकार के पेलोड अपने साथ ले जाने में सक्षम है इसके अलावा पानी के नीचे नियंत्रित प्रणोदन, उन्नत मार्गदर्शन और नेविगेशन के लिए भी सक्षम है। यह पाकिस्तान को दूसरी विश्वसनीय प्रक्षेपण क्षमता प्रदान करता है। इस क्षमता का विकास भी परमाणु पनडुब्बियों और जहाज परमाणु मिसाइलों के माध्यम से पड़ोसी इलाकों में उत्तेजक परमाणु रणनीतियों के लिए पाकिस्तान की प्रतिक्रिया को दर्शाता है।

स्वदेशीकरण और आत्मनिर्भरता के माध्यम से विश्वसनीय नीति को मजबूत करने की दिशा में पाकिस्तान की तरफ से यह एक ऐतिहासिक कदम के रुप में देखा जा रहा है। परीक्षण स्थल पर डीजी स्ट्रैटेजिक प्लान डिवीजन (एसपीडी), अध्यक्ष एनईएससीओएम (नेसकोम), कमांडर नेवल स्ट्रेटेजिक फोर्स कमांड (एनएसएफसी), वरिष्ठ अधिकारी, वैज्ञानिक और रणनीतिक वैज्ञानिक संगठनों के इंजीनियर भी उपस्थित थे।

अध्यक्ष जेसीएससी और सर्विसेज प्रमुख ने इस बेहद सफल उपलब्धि के लिए वैज्ञानिकों, इंजीनियरों और एनएसएफसी कर्मियों को बधाई दी है। पाकिस्तान के प्रधान मंत्री शाहिद खाक़ान अब्बासी और राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने भी वैज्ञानिकों, इंजीनियरों और एनएसएफसी कर्मियों को इस सफलता पर बधाई दी।

Posted By: Srishti Verma