इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह (Pakistan Interior Minister Rana Sanaullah) ने शनिवार को एक संवाददाता सम्मेलन में अरबों डालर के आइएमएफ सौदे (IMF Deal) और देश की आर्थिक मंदी पर दोषपूर्ण नीतियों के लिए पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पार्टी की आलोचना की। 'द न्यूज इंटरनेशनल' ने राणा सनाउल्लाह के हवाले से कहा, 'अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) पीटीआइ सरकार के एक दोषपूर्ण सौदे के कारण एक अरब डालर के लिए सरकार को अपनी छोटी उंगली के आसपास घुमा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर इमरान खान की सरकार ने सही फैसले लिए होते तो स्थिति नहीं बिगड़ती। 

'द न्यूज इंटरनेशनल' ने बताया कि गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने पीटीआइ समर्थकों के खिलाफ जरूरत पड़न पर आंसू गैस का इस्तेमाल करने की धमकी दी है। उन्होंने कहा कि 'अराजकतावादियों' की शिकायतों को दूर करने के लिए आंसू गैस के ताजा स्टाक खरीदे गए हैं। 

  • पीटीआइ प्रमुख पर निशाना साधते हुए सनाउल्लाह ने कहा कि इमरान को अपने मामलों को 'सही' करना चाहिए और राष्ट्रीय राजनीति की खातिर देश में 'विद्रोह और अस्थिरता पैदा करने' से बचना चाहिए।
  • उन्होंने राजनीतिक आम सहमति की जरूरत को रेखांकित करते हुए कहा, 'एक तरफ सभी राजनीतिक दल इस समय देश में चल रहे संकट को हल करने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि इमरान खान सभी को गाली देने और नफरत की राजनीति करने में लगे हुए हैं।'
  • सनाउल्लाह ने कहा कि इमरान खान की सरकार ने केवल फराह गोगी और अहसान गुर्जर की किस्मत बदली है।
  • गृह मंत्री ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ मामला दर्ज करने की सिफारिशें कैबिनेट को भेज दी गई हैं।

इस्लामाबाद पुलिस के वेतन में वृद्धि

इस बीच, सनाउल्लाह ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के खिलाफ शहबाज सरकार को 'सर्वोच्च' बताते हुए इस्लामाबाद पुलिस के वेतन में वृद्धि की घोषणा की। उन्होंने कहा, 'उन्होंने हमेशा मांग की थी कि उनका वेतन पंजाब पुलिस के बराबर होना चाहिए। हमने आखिरकार इस बजट में उनकी मांगों को स्वीकार कर लिया है।'

पीटीआइ सरकार ने नहीं की कोयला आयात की व्यवस्था

शहबाज शरीफ सरकार के अनुसार, पीटीआइ सरकार ने एलएनजी, कोयला और फर्नेस आयल के आयात की व्यवस्था नहीं की, जब उनकी कीमतें सबसे कम थीं और अंतरराष्ट्रीय ऋणदाता कोविड -19 महामारी के प्रभाव को बनाए रखने के लिए सस्ता ऋण प्रदान कर रहे थे।

Edited By: Achyut Kumar