लाहौर, आइएएनएस। पाकिस्तान की राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (National Accountability Bureau,NAB) ने रूस से कोविड-19 वैक्सीन की खरीद करने वाले एक पाकिस्तानी लैब का रिकॉर्ड लेने का फैसला किया है। साथ ही प्रति व्यक्ति 100 डॉलर से अधिक का शुल्क लगाने के इसके प्रस्तावित प्लान के बारे में जानकारी दी। NAB लाहौर ने एक शिकायत पर मामले की जांच शुरू की है। डॉन के अनुसार, शिकायत में कहा गया कि रूस से वैक्सीन खरीदने के बाद प्राइवेट लैब ने कोविड-19 वैक्सीन के लिए हर व्यक्ति से 100 डॉलर से अधिक का लाभ लेने की योजना बनाई है। 

एक अधिकारिक सूत्र ने सोमवार को बताया, 'रूस से कोविड-19 वैक्सीन खरीदने वाले पाकिस्तानी लैब से NAB रिकॉर्ड मांग रहा है।' दरअसल इस लैब ने वैक्सीन के दो खुराक के लिए 20 डॉलर का भुगतान किया और देश में एक व्यक्ति से वैक्सीन की खुराक के लिए 125 डॉलर कमाने की योजना बना रहा था। 

सरकार ने प्राइवेट कंपनियों को दूसरे देशों से कोरोना वायरस वैक्सीन आयात करने की अनुमति दे दी है और ऐसे आयातों पर छूट के लिए भी सहमति दी है। पाकिस्तान ने इस माह देश भर में वैक्सीनेशन की शुरुआत कर दी है। इसके तहत चीन द्वारा दिए गए सिनोफार्म (Sinopharm) वैक्सीन की 5 लाख खुराक लोगों को दी गई।  यहां सबसे पहले फ्रंटलाइन पर काम करने वाले हेल्थ वर्करों को वैक्सीन की खुराक दी गई। पिछले माह योजना व विकास मंत्री असद उमर (Asad Umar) ने कहा कि फेडरल सरकार वैक्सीन के निर्यात पर एकाधिकार नहीं रखेगी। 

 उन्होंने कहा, 'देश के सभी प्रांतों और प्राइवेट सेक्टर को वैक्सीन आयात करने की आजादी है। ड्रग रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ पाकिस्तान (Drap) ने अब तक पाकिस्तान में इस्तेमाल के लिए तीन वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। ये तीन वैक्सीन हैं— चीन का सिनोफार्म (Sinopharm), रूस का स्पूतनिक V (Sputnik V) और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca)।'  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप