गुजरांवाला, एजेंसियां। पाकिस्तान में शुक्रवार को 11 विपक्षी दलों के बने पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) का इमरान खान सरकार के खिलाफ हल्ला बोल शुरू हो गया। गुजरांवाला के जिन्ना स्टेडियम में भारी भीड़ के आगे प्रमुख विपक्षी नेताओं ने साथ मिलकर इमरान को सत्ताबदर करने का आह्वान किया। उन्‍होंने कहा कि सरकार का देश पर नियंत्रण नहीं है। भ्रष्टाचार ने पाकिस्तान को खोखला कर दिया है। 

इमरान ने खिलाफ काम किया 

विपक्षी नेताओं ने कहा कि इमरान ने चुनाव से पहली कही बातों के खिलाफ काम किया है, इसलिए अब उन्हें सत्ता में रहने का हक नहीं है। विपक्षी नेताओं ने इमरान के समर्थन के लिए सेना को भी आड़े हाथों लिया। शुक्रवार शाम अपने जती उमरा स्थित आवास के बाहर पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरयम नवाज ने कहा- हमारा संघर्ष अन्याय, बेरोजगारी और अभूतपूर्व महंगाई के खिलाफ है। 

पाकिस्‍तान मे हर इंसान परेशान 

मरयम नवाज ने कहा कि पाकिस्तान का हर इंसान इन समस्याओं से जूझ रहा है। इसीलिए हम साथ आए हैं और जनता भी हमारे साथ आई है। मरयम ने ट्वीट कर जनसमर्थन के बारे में बताया कि लाहौर से निकलने में उन्हें छह घंटे से ज्यादा लग गए। उनके हर तरफ जनसमंदर उमड़ रहा था। बदलाव की बयार बह रही है। विदित हो कि पाकिस्तान में 2023 में चुनाव होने वाले हैं। सरकार के खिलाफ विपक्षी गठबंधन का नेतृत्व कर रहे जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम के सदर मौलाना फजलुर रहमान को भी भारी भीड़ के चलते जिन्ना स्टेडियम पहुंचने में घंटों लगे। 

हमारी किसी के साथ दुश्मनी नहीं 

फजलुर रहमान ने कहा, हमारी किसी के साथ दुश्मनी नहीं है लेकिन हम चाहते हैं कि पाकिस्तानियों के लिए पाकिस्तान हो। हम पश्चिमी सभ्यता के लोगों के लिए पाकिस्तान नहीं चाहते हैं। पाकिस्तान पर जब तक बाहरी लोग राज करेंगे, तब तक पाकिस्तान ताकतवर मुल्क नहीं बन सकता। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी को भी गुजरांवाला पहुंचने में काफी वक्त लगा। विपक्षी एकता के बाद गुजरांवाला में पीडीएम की यह पहली रैली थी। इसके बाद देश के अन्य इलाकों में रैलियां होंगी। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस