लरकाना (पाकिस्तान), एएनआइ। Namrita chandani murder: पाकिस्तान में सिंधी हिंदु लड़की नम्रता चंदानी की हत्या के मामले में सिंध पुलिस ने दो लोगों के गिरफ्तार कर लिया है। खबरों के मुताबिक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) लरकाना के अनुसार, गिरफ्तार हुए दोनों संदिग्ध नम्रता के करीबी दोस्त और सहपाठी है। संदिग्ध की पहचान अली शान मेमन और मेहरान अब्रो के रूप में हुई है। फिलहाल पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।

प्रथम वर्ष की मेडिकल छात्रा, नमृता, जो घोटकी शहर से ताल्लुक रखती थी, जहां हाल ही में एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की गई थी, 17 सितंबर को अपने हॉस्टल के  कमरे संदिग्ध हालत में मिली और उसके गले में कपड़े का एक टुकड़ा बंधा हुआ था, जबकि उसका कमरा अंदर से बंद था।

 मेहरान अब्रो करता था नम्रता का क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल

ARY न्यूज ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि मेहरान अब्रो नम्रता का क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर रहा था।नम्रता परिवार ने मामले की गहन जांच की मांग की है। नम्रता के भाई, विशाल, जो एक चिकित्सा सलाहकार हैं, ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि उसकी हत्या की गई थी।

भाई के आरोप आत्महत्या नहीं बहन की हुई हत्या

उन्होंने कहा कि ये आत्महत्या नहीं है बल्कि हत्या है। उसकी गर्दन पर और इसके हाथ पर निशान है। ये निशान केबल वायर के है जबकि उसके दोस्तों का कहना है कि उन्होंने उसकी गर्दन पर दुप्पटा बंधा देखा था। 

यह पूछे जाने पर कि क्या नम्रता कुछ समस्याओं का सामना कर रही थीं, उनके भाई ने कहा, 'नहीं, ऐसा कुछ नहीं था, मैंने खुद दो दिन पहले उनसे बात की थी। वह एक शानदार छात्रा थीं। उन्होंने मांग की कि इस मामले की निष्पक्ष रूप से जांच होनी चाहिए और न्याय के लिए नागरिकों को परिवार का समर्थन करना चाहिए।

गौरतलब है कि नम्रता की हत्या के इर्द-गिर्द के रहस्य ने लोगों के मन में यह सवाल उठाया कि क्या यह जबरन धर्म परिवर्तन का मामला था।

कराची में भी विरोध प्रदर्शन 

कराची में अल्पसंख्यक हिंदू लड़की नम्रता की हत्या के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए। इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर करते हुए, प्रदर्शनकारियों ने नम्रता के लिए न्याय की मांग की।

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप