Move to Jagran APP

Khalil Jibran: पाकिस्तान में वरिष्ठ पत्रकार की हत्या, कार से बाहर निकालकर बरसाई अंधाधुंध गोलियां

पाकिस्तान के अशांत खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में एक वरिष्ठ पत्रकार की अज्ञात बंदूकधारियों ने हत्या कर दी। पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि निजी समाचार चैनल खैबर न्यूज से जुड़े खलील जिब्रान को मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने मंगलवार को उस समय निशाना बनाया जब वह खैबर जिले के लांडी कोटल कस्बे में अपने दोस्त के साथ अपने घर की ओर जा रहे थे।

By Agency Edited By: Nidhi Avinash Wed, 19 Jun 2024 03:26 PM (IST)
Khalil Jibran: पाकिस्तान में वरिष्ठ पत्रकार की हत्या, कार से बाहर निकालकर बरसाई अंधाधुंध गोलियां
पाकिस्तान में पत्रकार की हत्या (Image: Jagran)

पेशावर, पीटीआई। पाकिस्तान में पत्रकार बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है। ताजा मामला खैबर पख्तूनख्वा प्रांत का है, जहां एक वरिष्ठ पत्रकार की उनके ही आवास के पास कुछ अज्ञात बंदूकधारियों ने हत्या कर दी। पुलिस ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। 

खलील जिब्रान एक निजी समाचार चैनल खैबर न्यूज के पत्रकार थे और उन्हें कुछ मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने मंगलवार को  निशाना बनाया। दरअसल, वह खैबर जिले के लांडी कोटल कस्बे में अपने दोस्त के साथ अपने घर की ओर जा रहे थे उसी दौरान उन पर गोलियों से हमला हुआ। 

पत्रकार की कार हुई खराब, बाहर निकाला और चला दी गोली

पुलिस के मुताबिक, पत्रकार की कार में खराबी आ गई थी, तभी बंदूकधारियों ने उसे घेर लिया और उसे गाड़ी से बाहर निकाला और उस पर गोलियां चला दीं। अधिकारी ने बताया कि हमले में जिब्रान की मौके पर ही मौत हो गई। कार में खलील के अलावा जो लैंडी कोटल प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष और उनके वकील मित्र भी थे जो घायल हो गए। अपराधी मौके से फरार हो गए है। 

अधिकारी ने बताया कि जिब्रान को आतंकवादियों से धमकियां भी मिली थीं। प्रदर्शनकारियों ने पत्रकार के हत्यारे को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की। खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री अली अमीन गंदापुर ने अधिकारियों को पत्रकार की हत्या के दोषियों को तुरंत गिरफ्तार करने का आदेश दिया है।

हत्या की हो रही कड़ी निंदा

एसोसिएशन ऑफ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एडिटर्स एंड न्यूज डायरेक्टर्स (AEMEND) ने हत्या की कड़ी निंदा की और सरकार से जिब्रान के हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ने की मांग की है। एक बयान में, एसोसिएशन ने ऐसी घटनाओं को रोकने में उच्च अधिकारियों की विफलता की आलोचना की क्योंकि पत्रकारों को देश भर में लगातार यातना, अपहरण और धमकियों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: Pakistan Milk Price: कंगाल पाकिस्तान में आटे के बाद आसमान में दूध के दाम, कीमत पहुंची 200 के पार

यह भी पढ़ें:  Pakistan: मानवाधिकार आयोग ने ईसाई परिवार पर हमले की निंदा की, कहा- हिंसा के खिलाफ कड़े कदम उठाने की जरूरत