लाहौर, प्रेट्र। मुंबई आतंकी हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव के प्रचार में जुट गया है। वह खुलेआम भारत विरोध के नाम पर अपने उम्मीदवारों के लिए वोट मांग रहा है। हालांकि वह खुद चुनाव नहीं लड़ रहा है।

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, जमात-उद-दावा प्रमुख सईद ने बीते सप्ताह लाहौर, इस्लामाबाद, फैसलाबाद, सरगोधा, साहीवाल और झांग में अपनी सियासी पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) के चुनावी कार्यालयों का उद्घाटन किया। इस दौरान उसने कई रैलियां भी कीं। अपने भाषणों में उसने अपील की, 'उन लोगों को वोट दो जो पाकिस्तानी नदियों पर भारत को बांध बनाने से रोक सकें, कश्मीरियों को आजादी पाने में मदद कर सकें और पाकिस्तान को इस्लाम का गढ़ बना सकें।

उन लोगों (पीएमएल-एन) को वोट नहीं दो जो भारत को बांध बनाने से रोक नहीं पाए।' आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक सईद ने एक ऐसा नया सियासी नेतृत्व देने का वादा भी किया जो पाकिस्तान की किस्मत को बदल देगा। उसने बुधवार को लाहौर में जमात-उद-दावा के मुख्यालय में एमएमएल कार्यकर्ताओं से कहा, 'हमने पाकिस्तान को मजबूत बनाने के लिए सियासी मैदान में उतरने का फैसला किया है।'

दूसरी पार्टी के बैनर तले उतारे उम्मीदवार

सईद ने एमएमएल के चुनाव आयोग में पंजीकृत नहीं हो पाने के चलते एक अन्य पार्टी 'अल्लाह-ओ-अकबर तहरीक' (एएटी) के बैनर तले अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

13 महिलाओं को भी उतारा

एएटी के बैनर तले एमएमएल के 265 उम्मीदवार संसदीय और प्रांतीय चुनाव लड़ रहे हैं। इन प्रत्याशियों में 13 महिलाएं हैं। सईद का बेटा और दामाद भी चुनाव लड़ रहे हैं।

सईद पर एक करोड़ डॉलर का इनाम

अमेरिका ने आतंकी गतिविधियों के चलते सईद पर एक करोड़ डॉलर (करीब 68 करोड़ रुपये) का इनाम घोषित कर रखा है। लश्कर के मुखौटा जमात-उद-दावा को 2014 में आतंकी संगठन घोषित कर दिया गया था।

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप