इस्लामााबाद, आइएएनएस। पाकिस्तान के तीन और चार सितारा होटलों को क्वारंटाइन सेंटर्स में तब्दील किया जाएगा। इस्‍लामाबाद हाई कोर्ट ने इसकी इजाजत दे दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नेशनल डिजाजस्टर मैनेजमेंट ऑथोरिटी (National Disaster Management Authority- NDMA) कोरोना वायरस संक्रमितों को इन क्वारंटाइन सेंटर्स में भेजने पर विचार कर रहा है।

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले महीने एनडीएमए ने सरकार के सामने पाकिस्तान के बड़े शहरों में मौजूद होटलों को क्वारंटाइंटन सेंटर्स में तब्दील करने का प्रस्ताव रखा था। सरकार से अनुमति मिलने के बाद एनडीएमए ने भी सभी होटलों को खाली करने के निर्देश दे दिए थे। शुक्रवार को सुनवाई के दौरान इस्लामाबाद हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अतर मिनल्लाह ने कहा कि सरकार और एनडीएमए द्वारा किए गए प्रयासों से जाहिर है कि जनता की बड़े स्तर पर देखभाल किया जाना जरूरी है।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को दखते हुए एनडीएमए पहले ही शिक्षण संस्थानों, कराची और लाहौर के एक्सपो सेंटर एवं इस्लामाबाद में स्थित पाक-चीन सेंटर, होटल और ट्रेन की बोगियों को क्वारंटाइन सेंटर्स में तब्दील कर चुका है। शनिवार सुबह तक पाकिस्तान में कोरोना वायरस के 2,686 मामालों की पुष्टि हो चुकी है जबकि 40 लोगों की इससे जान जा चुकी है।

स्थानीय लोगों ने पुलिस पर फेंके पत्थर

पाकिस्तान के कराची में कुछ स्थानीय लोगों ने पुलिस पर पत्थर फेंके हैं। दरअसल शुक्रवार को जुमे की नमाज के लिए जमा होने वाले लोगों को रोकने के लिए पुलिस तैनात की गई थी। इस दौरान कुछ लोगों ने पुलिस कर्मियों पर पत्थर फेंके और दुर्व्यवहार किया, जिसके बाद मौलवी समेत 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बता दें कि इसी तरह का मिलता जुलता एक मामला भारत में भी सामने आया था, जिसमें मध्य प्रदेश के कुछ लोगों ने चिकित्सा कर्मचारियों पर पत्थर फेंके थे। दरअसल ये लोग कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए इंदौर के इलाके में लोगों को जागरुक करने के लिए गए थे। इसी दौरान लोग इनके पीछ पत्थर मारने के लिए भागने लगे।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस