लाहौर, पीटीआइ। भारतीय विमानों के लिए पाकिस्तान का आकाश 30 मई तक बंद रहेगा। इस बाबत फैसला भारत में नई सरकार के गठन के बाद लिया जाएगा। यह बात बुधवार को पाकिस्तान में हुई उच्चस्तरीय बैठक में कही गई।

पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के अड्डे पर हमला किया था। इसके बाद पाकिस्तान ने सभी विदेशी विमानों के लिए अपनी वायुसीमा बंद कर दी।

एक महीने बाद 27 मार्च को नई दिल्ली, बैंकॉक (थाइलैंड) और कुआलालंपुर (मलेशिया) से आने वाली उड़ानों के अतिरिक्त बाकी देशों के विमानों के लिए पाकिस्तानी आकाश खोल दिया गया। बुधवार को पाकिस्तान के रक्षा और उड्डयन मामलों के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में भारतीय विमानों के लिए वायुसीमा खोलने पर विचार किया गया।

नई सरकार बनने तक बंद रहेगा पाकिस्तानी आकाश
विचार-विमर्श के बाद फैसला किया गया कि भारत में नई सरकार बनने तक भारतीय विमानों के लिए आकाश बंद रखा जाएगा। भारत में लोकसभा चुनाव परिणाम 23 मई को घोषित हो जाएगा और साफ हो जाएगा कि देश में नई सरकार किस दल की बनेगी। 30 मई को इस सिलसिले में पाकिस्तानी अधिकारियों की फिर से बैठक होगी।

चुनाव परिणाम बाद पाकिस्तान खोलेगा वायु सीमा
प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी विज्ञान और तकनीक मामलों के मंत्री फवाद चौधरी ने इसी सप्ताह संकेत दिया था कि भारत में चुनाव होने के बाद ही वायु सीमा खोलने पर फैसला होगा। चौधरी ने कहा, चुनाव तक भारत और पाकिस्तान के संबंध में किसी तरह के सुधार होने की संभावना नहीं है। इसलिए भारत में नई सरकार के बनने का इंतजार किया जाना चाहिए। इसके बाद ही कोई फैसला किया जाएगा।

बता दें कि नई दिल्ली, बैंकॉक और कुआलालंपुर से आने वाले विमानों के लिए आकाश बंद रखने से पाकिस्तान को प्रतिदिन लाखों रुपये का नुकसान हो रहा है। इन स्थानों से प्रतिदिन आठ उड़ानें पाकिस्तान आती थीं।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh