इस्लामाबाद, एजेंसी। इमरान खान की पार्टी (पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ) ने पाक पीएम शहबाज शरीफ पर हमला बोला है। पीटीआइ ने लाहौर में कीमतों में वृद्धि, बेरोजगारी, लोड शेडिंग, बढ़े हुए बिजली बिल और देश में बड़े पैमाने पर करों के खिलाफ विरोध किया है। डान के अनुसार, इमरान खान की पार्टी के कार्यकर्तायों ने पार्टी के झंडे लेकर प्रदर्शन किया है। उन्होंने कारों और मोटरसाइकिलों से एक रैली भी निकाली।

बिजली बिल भरने के लिए लोग सामान बेचने को मजबूर

पीटीआई पंजाब की अध्यक्ष यास्मीन राशिद ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि शहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली सरकार जनता को कोई राहत देने में विफल रही है। उन्होंने कहा कि लोग अब बिजली बिल भरने के लिए अपना सामान बेचने को मजबूर हैं। उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि चोरों और डकैतों को राहत दी जा रही है।

बिजली बिलों पर जनमत संग्रह

पीटीआई के अलावा, जमात-ए-इस्लामी (जेआई) ने भी पाकिस्तान में बिजली बिलों को लेकर अन्यायपूर्ण आरोपों पर तीन दिवसीय जनमत संग्रह शुरू किया है। द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, जेआई कराची के प्रमुख हाफिज नईमुर रहमान ने कहा है कि बिजली बिलों पर उनकी पार्टी एक जनमत संग्रह कराएगी। उन्होंने कहा कि जुमे की नमाज के बाद शहर में मस्जिदों के बाहर जनमत संग्रह कराया जाएगा। जनमत संग्रह शैक्षणिक संस्थानों, बाजारों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर भी किया जाएगा।

सड़कों पर आए लोग

बता दें कि बिजली बिलों की अधिक बिलिंग और बिल गुल रहने के चलते नागरिकों ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सड़कों पर उतरकर विरोध किया है। लंबे समय से देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शनकारी बिजली बिलों में हुई महंगाई की निंदा करने के लिए लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले महीने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने कहा था कि संघीय सरकार देश के सामने मौजूद भारी ऊर्जा संकट को खत्म करने के लिए रुके हुए बिजली संयंत्रों को फिर से शुरू करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें- Pakistan: पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने कहा- जेल जाने से नहीं डरते, देश में कराएंगे जबरन चुनाव

Edited By: Mahen Khanna

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट