इस्लामाबाद, प्रेट्र। पश्चिम एशिया में बढ़ते तनाव को दूर करने के प्रयास में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान शनिवार से ईरान और सऊदी अरब का दौरा कर सकते हैं। सऊदी अरब के दो तेल संयंत्रों पर पिछले माह हुए ड्रोन हमले के बाद से क्षेत्र में तनाव है। इस हमले के लिए सऊदी अरब और अमेरिका ने ईरान को जिम्मेदार ठहराया था।

इमरान पहले तेहरान जाएंगे 

एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार ने सूत्रों के हवाले से अपनी खबर में बताया कि इमरान पहले तेहरान जाएंगे और रविवार को ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी से मुलाकात करेंगे। इसके बाद वह रियाद पहुंचेंगे और सऊदी नेतृत्व से मिलेंगे। इमरान के इस दौरे पर हालांकि विदेश मंत्रालय चुप्पी साधे हुए है। पिछले माह संयुक्त राष्ट्र महासभा में हिस्सा लेने के दौरान इमरान ने दावा किया था कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ बढ़ते तनाव को दूर करने के लिए उनसे मध्यस्थता के लिए कहा है।

सऊदी अरब और ईरान में गहरे मतभेद

इस दावे पर हालांकि ट्रंप ने कहा था, 'पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने ही यह पेशकश की थी। लेकिन अभी कुछ तय नहीं हुआ है।' सऊदी अरब के साथ ही पाकिस्तान के ईरान से भी अच्छे संबंध हैं। जबकि सऊदी अरब और ईरान में गहरे मतभेद हैं।

मध्यस्थता कर चुके हैं नवाज शरीफ

वर्ष 2016 में सऊदी अरब ने प्रभावशाली शिया मौलवी निम्र अल-निम्र को फांसी पर चढ़ा दिया था। इसको लेकर सऊदी अरब और ईरान में तनाव बढ़ गया था। इस तनाव को दूर करने के लिए पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने मध्यस्थता की थी।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप