इस्‍लामाबाद, एजेंसी। पाकिस्‍तान में एकबार फ‍िर भूकंप के तगड़े झटके महसूस किए गए हैं। पाकिस्‍तानी अखबार डॉन ने रेडियो पाकिस्‍तान के हवाले से बताया है कि देश के खैबर पख्‍तूनख्‍वां और उत्‍तरी इलाकों में ये झटके महसूस किए गए। पाकिस्‍तान के नेशनल सिस्मिक मॉनिटरिंग सेंटर के मुताबिक, रिक्‍टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 5.8 मापी गई। भूकंप के झटकों के कारण सड़कें फट गई हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर की ओर से जारी तस्‍वीरों में सड़कों पर उभरी चौड़ी दरारों को साफ देखा जा सकता है। 

खैबर पख्‍तूनख्‍वा के प्रांतीय डिजास्‍टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (KP Provincial Disaster Management Authority, PDMA) के प्रवक्‍ता तैमूर अली ने बताया कि भूकंप के ये झटके पेशावर, मालाकंद, मरदान, चारसद्दा, अटोक और हजारा डिविजन में महसूस किए गए। डॉन न्‍यूज टीवी ने स्‍थानीय लोगों के हवाले से बताया है कि भूकंप के झटके शांगला, कोहिस्तान, बत्तीग्राम, तोर्गहार, स्वात समेत देश के अन्य उत्तरी क्षेत्रों में महसूस किए गए। भूकंप के कितना नुकसान हुआ है, प्रशासन इसकी जानकारियां जुटा रहा है। बता दें कि हाल के दिनों में पाकिस्‍तान में जलजले के कई झटके महसूस किए जा चुके हैं। 

अभी कल ही झेलम से 10 किलोमीटर उत्तर पूर्व में 3.8 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया था। पिछले महीने गुलाम कश्मीर (POK) में विनाशकारी भूकंप ने दस्‍तक दी थी। इसमें 38 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 452 लोग घायल हो गए थे। रिपोर्टों में बताया गया था कि 5.8 तीव्रता के उस भूकंप का केंद्र मीरपुर शहर के समीप सतह से 10 किलोमीटर नीचे था। भूकंप के झटके 8 से 10 सेकंड तक लगातार इस्लामाबाद, पेशावर, रावलपिंडी और लाहौर समेत पूरे पाकिस्तान में महसूस किए गए थे। यही नहीं नई दिल्ली समेत भारत के उत्तरी हिस्सों में झटकों को महसूस किया गया था। \

अभी कल ही राजस्‍थान के बीकानेर और उसके आसपास के इलाकों में 4.5 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इन झटकों से लोग घरों से बाहर निकल आए जिससे सड़कों पर भीड़ जमा हो गई। बताया जाता है कि भूकंप का केंद्र जमीन से 10 किलोमीटर नीचे था। हालांकि, इससे किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ था। यही नहीं पिछले महीने ही इंडोनेशिया के मालुकु द्वीप में आए भूकंप से 30 लोगों की मौत हो गई थी जबकि करीब 25 हजार लोगों को अपना घर-बार छोड़ना पड़ा था।  

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप