कराची, एजेंसी । पाकिस्‍तान के सिंध प्रांत में हिंदू छात्रा की संदिग्‍ध मौत के मामले की न्‍यायिक जांच शुरू हो गई है। सिंध हाई कोर्ट ने बुधवार को इसकी मंजूरी दी। प्रांत के गवर्नर की गुजारिश पर लरकाना जिले के सेशन जज ने मामले की न्‍यायिक जांच के लिए हाईकोर्ट से अनुमति मांगी थी। गवर्नर के अनुरोध पर कोर्ट ने इसकी इजाजत दी।

बता दें कि लरकाना जिले के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में पढ़ने वाली चांदनी 16 सितंबर को हॉस्‍टल के कमरे में संदिग्‍ध अवस्‍था में मृत पाई गई। उसके गले में दुप्‍ट्टा बंधा हुआ था। शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी प्रशासन इस मामले को आत्‍महत्‍या बता रहा था, जब कि मृ‍तका के परिजन इसको हत्‍या बता रहे हैं। भाई विशाल के अनुसार उसके गर्दन पर केबल वायर के निशान बने थे। अनुभागीय अधिकारी ऐजाज अली भट्टी ने लरकाना के जिला एवं सत्र न्‍यायाधीश को एक पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि मामले में एक न्‍यायिक जांच करके गृह विभाग की रिपोर्ट 30 दिन के भीतर सौंपी जाए। जिससे आगे की कार्रवाई की जा सके। परिजनों ने इस मौत की न्‍यायिक जांच की मांग की थी। 

कुछ लोगों को कहना है कि उसकी मौत जबरन धर्मांतरण का मामला भी बता रहे हैं। इसलिए यह मामला सुर्खियों में रहा। अंतरराष्‍ट्रीय दबाव से बचने पाकिस्‍तान सरकार की नजर भी इस पर पड़ी। सरकार सक्रिय हुई। इसके बाद सिंध प्रांत के गवर्नर ने इसकी उच्‍च जांच की मांग रखी।  

 

 

Posted By: Ramesh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप