लाहौर, पीटीआइ। पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट से नहीं हटाए जाने के कारण उनके विदेश जाने में देरी हो रही है। इससे उनके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए गंभीर खतरा पैदा हो गया है। उनकी पार्टी पाकिस्‍तान मुस्लिम लीग नवाज (Pakistan Muslim League Nawaz) ने आरोप लगाया है कि शरीफ का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (Exit Control List, ECL) से नहीं हटाए जाने से उनकी तबियत बिगड़ने का खतरा पैदा हो गया है।

बता दें कि नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) अपने भाई एवं पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ (shahbaz sharif) के साथ इलाज कराने के लिए लंदन जाने वाले हैं। सूत्रों की मानें तो संघीय सरकार और राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (National Accountability Bureau, NAB) दोनों नवाज शरीफ का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (Exit Control List, ECL) से हटाने में हिचकिचा रहे हैं। इस वजह से उनके विदेश जाने में रुकावट पैदा हो गई है। 

राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो NAB ने एग्जिट कंट्रोल लिस्ट ECL से शरीफ का नाम हटाने के बजाय गृह मंत्रालय को अपना लिखित जवाब भेज दिया है। दूसरी ओर इमरान खान सरकार भी एग्जिट कंट्रोल लिस्ट से शरीफ के नाम को हटाने की जिम्‍मेदारी नहीं लेना चाहती है जबकि सरकार की ओर से गठित मेडिकल बोर्ड का सुझाव है कि नवाज शरीफ का इलाज विदेश में होना चाहिए ताकि वे जल्‍द स्‍वस्‍थ्‍य हो सकें। वहीं 69 वर्षीय शरीफ ने परिजनों के आग्रह और डॉक्‍टरों की सलाह के बाद शुक्रवार को लंदन में जाकर इलाज कराने पर रजामंदी जताई थी। 

वह रविवार की सुबह को पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाइंस ( Pakistan International Airlines, PIA) की प्‍लाइट से लंदन के लिए उड़ान भरने वाले थे। लेकिन एग्जिट कंट्रोल लिस्ट से नाम बाहर नहीं आने के कारण उनकी उड़ान नहीं हो सकी थी। बता दें कि शरीफ विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से ग्रस्‍त हैं। फ‍िलहाल, लाहौर के नजदीक उनके आवास पर उनका ख्‍याल रखा जा रहा है। यही नहीं उसी जगह पर आईसीयू भी स्थापित किया गया है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप