लाहौर, एएनआइ। बकरे की मां कब तक खैर मनाएगी... कुछ ऐसा ही हुआ अवैध फंडिंग मामले में  पाकिस्तानी संगठन जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद  के साथ। शनिवार को लाहौर की आतंक निरोधी अदालत में मुंबई के आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद  के खिलाफ आरोप तय होने थे लेकिन मामले का दूसरा आरोपी मलिक जफर ने कोर्ट में आज पेशी नहीं दी। इसलिए मामले की अगली सुनवाई के लिए कोर्ट ने 11 दिसंबर की तारीख दे दी है। इसी दिन हाफिज सईद पर आरोप तय किए जाएंगे। बता दें कि पेशी के लिए हाफिज सईद को यहां लाहौर के कोर्ट लखपत जेल से पेशी के लिए यहां लाया गया।

बता दें कि पेशी के लिए हाफिज सईद को यहां लाहौर के कोर्ट लखपत जेल से पेशी के लिए यहां लाया गया। अदालत के अधिकारी ने बताया कि जज अरशद हुसैन भुट्टा ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि इकबाल 11 दिसंबर को अगली सुनवाई में पेश हो। दरअसल, आज हाफिज सईद और उसके सहयोगियों के खिलाफ टेरर फंडिंग मामले की सुनवाई की गई। कोर्ट में एक वकील ने कहा, जस्टिस अरशद हुसैन भुट्टा ने अभियोजन और बचाव पक्ष के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद सईद और अन्य के खिलाफ अभ्यारोपण के लिए 11 दिसंबर की तारीख तय की गई।

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस