इस्लामाबाद, पीटीआइ। चीन ने पाकिस्तान से शुक्रवार को एक दिन के लिए दोनों देशों के बीच की सीमा खोलने को कहा है ताकि कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए चिकित्सा उपकरण की आपूर्ति देश में पहुंचाई जा सके। ख़ुंजराब दर्रा आमतौर पर 1 अप्रैल को खोला जाता है जो उस हिस्से में सर्दियों के अंत का प्रतीक है, लेकिन COVID-19 के वैश्विक प्रकोप के कारण, पाकिस्तान और चीन के बीच सीमा अनिश्चित काल के लिए बंद कर दी गई है।

डॉन के मुताबिक, चीनी दूतावास ने विदेश मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा कि चीन के झिंजियांग उइगर स्वायत्त क्षेत्र के गवर्नर गिलगित-बाल्टिस्तान को चिकित्सा सामग्री का सामान देना चाहते हैं। पत्र के अनुसार, गवर्नर ने वायरस से लड़ने के लिए मुख्य रूप से चीन में डॉक्टरों और पैरामेडिक्स द्वारा इस्तेमाल किए गए चिकित्सा उपकरण पाकिस्तान को दिए जाएंगे। बताया गया कि इनमें 200,000 साधारण फेस मास्क, 2,000 एन -95 फेस मास्क, पांच वेंटिलेटर, 2,000 परीक्षण किट और 2,000 मेडिकल सुरक्षात्मक कपड़े पाकिस्तान को दिए जा सकते हैं।

बताया गया कि यह सब सामान जीबी मुख्यमंत्री हफीजुर रहमान द्वारा शिनजियांग क्षेत्र के राज्यपाल को प्रांत में कोरोना वायरस से निपटने के लिए किए गए अनुरोध के बाद मिलने वाला है। गिलगित-बाल्टिस्तान में अपनी आबादी की तुलना में देश में कोरोना वायरस के मामलों का फीसद अधिक है और इस अविकसित क्षेत्र में वेंटिलेटर चिकित्सा उपकरणों की भारी कमी है। प्रांत में अब तक 84 सकारात्मक मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि राष्ट्रीय स्तर 1,102 तक पहुंच गए हैं मामले और मरने वालों की संख्या आठ हो गई है।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस