इस्लामाबाद, प्रेट्र। भारत की तमाम आपत्तियों की अनदेखी करते हुए पाकिस्तान और चीन ने गुलाम कश्मीर के रास्ते बस सेवा की शुरुआत कर दी। यह बस पाकिस्तान के लाहौर से चीन के शिनजियांग प्रांत के काशगर के बीच चलेगी। सोमवार की रात लाहौर के गुलबर्ग से यह बस अपनी पहली यात्रा पर रवाना हुई।

60 अरब डॉलर के महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) के तहत सड़क संपर्क स्थापित करने के उद्देश्य से यह बस सेवा शुरू की गई है। भारत ने गुलाम कश्मीर के रास्ते बस सेवा शुरू करने पर चीन और पाकिस्तान से कड़ी आपत्ति जताई थी। चीन के विदेश मंत्रालय ने बस सेवा का बचाव करते हुए कहा था कि इस्लामाबाद के साथ उसके सहयोग का क्षेत्रीय विवाद से कोई लेना-देना नहीं है।

चीन ने यह भी स्पष्ट किया था कि इस बस सेवा के शुरू होने से कश्मीर पर उसके रुख में कोई बदलाव नहीं आएगा। जबकि, पाकिस्तान ने भारत की आपत्ति को खारिज कर दिया था। दोनों देशों के बीच 2015 में सीपीईसी योजना शुरू हुई थी। इसके तहत दोनों देशों के बीच सड़क और रेल संपर्क स्थापित करना भी शामिल है।

बस के लाहौर से काशगर पहुंचने में 36 घंटे लगेंगे। लाहौर से यह बस शनिवार, रविवार, सोमवार और मंगलवार को चलेगी। जबकि काशगर से यह बस मंगलवार, बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को रवाना होगी। एक तरफ से भाड़ा 13000 रुपये है, जबकि एक साथ आने-जाने का टिकट लेने पर 23000 रुपये लगेंगे।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस