नई दिल्ली, एएनआइ। बलूच रिपब्लिकन पार्टी के अध्यक्ष ब्रह्मदग बुगती ने पाकिस्तान पर बलूचिस्तान के लोगों की आवाज को कुचलने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तानी अधिकारी बलूच, पश्तूनों, मुहाजिरों, सिंधियों और धार्मिक अल्पसंख्यकों जैसे दबे-कुचले लोगों की आवाज़ को कुचलने का काम कर रहे हैं। जो लोग उनके खिलाफा आवाज उठाते हैं उन लोगों का अपहरण करवाने का काम पाकिस्तानी अधिकारी कर रहे हैं। 

बुगती ने पाकिस्तानी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक तरफ पाकिस्तान कि सरकार गायब हो गए लोगों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों हिस्सा बन रहा है और दूसरी तरफ, आवाज उठाने वाले लोगों का अपहरण करने में व्यस्त है। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से मांग करते हुए कहा है कि बलूच और अन्य लोगों के गायब होने को लेकर पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

बता दें कि पाकिस्तान की सरकारी एजेंसियों द्वारा पकड़कर ले जाए गए ऐसे हजारों लोग सालों बीत जाने के बाद भी घर वापस नहीं लौटे हैं। उनके बारे में पूछे जाने पर सरकारी एजेंसियां कोई जानकारी भी नहीं देतीं। अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल भी पाकिस्तान में हो रहे इस अत्याचार से वाकिफ है। वह इसे पाकिस्तान सरकार की मारो और दफन करो नीति कहती है। इसके ज्यादातर शिकार कमजोर वर्ग के आंदोलनकारी, शिक्षक, छात्र, चिकित्सक, बुद्धिजीवी और पत्रकार हो रहे हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस