इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के स्थानीय सरकार के चुनाव से पहले पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष और विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी (Bilawal Bhutto Zardari) ने इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पर लगातार नुकसान से उत्पन्न निराशा के कारण हिंसा की धमकी देने का आरोप लगाया। उन्होंने अपने समर्थकों से शांतिपूर्ण तरीके से रहने और उत्तेजित न होने का आग्रह किया।

'लगातार मिल रही रही हार से विरोधी निराश'

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने ट्विटर पर कहा, 'लगातार मिल रही हार से हमारे विरोधी निराश होकर हिंसा की धमकी दे रहे हैं। मैं अपने समर्थकों से शांतिपूर्ण तरीके से रहने और उत्तेजित न होने का आह्वान करता हूं। वोट दें। लोकतंत्र हमारा बदला है।'

  • जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार सिंध के चार संभागों में स्थानीय निकाय चुनाव का पहला चरण आज से शुरू होना है।
  •  बिलावल भुट्टो जरदारी ने कहा, 'सिंध के 15 जिलों में पहले चरण के स्थानीय निकाय चुनाव में भाग लेने वाले सभी पीपुल्स पार्टी टिकट धारकों को शुभकामनाएं। कल चुनाव का दिन है। बाहर निकलें और शांतिपूर्ण, समृद्ध और प्रगतिशील भुट्टोवाद को वोट दें।'

इमरान खान ने जरदारी माफिया को खत्म करने का किया आग्रह

इस बीच, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के अध्यक्ष इमरान खान ने भी नागरिकों से अपनी पार्टी को वोट देने और 'जरदारी माफिया' को खत्म करने का आग्रह किया। ट्विटर पर इमरान खान ने लिखा, 'सिंध के 4 डिवीजनों में चुनाव होने हैं। पीपीपी के द्वारा हमारे उम्मीदवारों को आतंकित करने और अनुच्छेद 140 ए के तहत स्थानीय प्रतिनिधि को अधिकार देने के सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन नहीं करने के बावजूद हम इस चुनाव में भाग ले रहे हैं। मैं सिंध के लोगों से पीटीआइ उम्मीदवारों को वोट देने और जरदारी माफिया को खत्म करने के लिए कहता हूं।'

सिंध प्रांत के 14 जिलों में होंगे चुनाव

  • पाकिस्तान के चुनाव आयोग (ECP) ने सिंध के 14 जिलों में स्थानीय सरकार के पहले चरण के चुनाव के आयोजन की तैयारी पूरी कर ली है।
  • सिंध के 14 जिलों में 5,331 सीटों के लिए 21,298 उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे, जबकि चुनावी लड़ाई से पहले 946 उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए हैं।
  • पंजीकृत मतदाताओं की कुल संख्या 1,149,2680 है।
  • चुनाव आयोग ने सिंध चुनाव के पहले चरण के लिए 2,950,000 मतपत्र छापे।

पीटीआइ सरकार ने दिया झूठा बयान

इस बीच, पाकिस्तान की राजनीतिक पार्टी जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल (JUI-F) के सुप्रीमो मौलाना फजलुर रहमान ने एक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा, 'राजनीतिक दलों के लिए 2018 के आम चुनावों के बाद एक मंच पर अपनी ताकत इकट्ठा करना जरूरी था। पीटीआइ सरकार ने एक योजना के तहत देश में आर्थिक संकट पैदा किया था।' उन्होंने आरोप लगाया कि इमरान खान ने धमकी भरे पत्र और उनकी हत्या की साजिश का झूठा बयान दिया था जिसे अमेरिका ने भी खारिज कर दिया था। 

Edited By: Achyut Kumar