इस्लामाबाद, आइएएनएस। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानकदेव की आगामी 550वीं जयंती पर पंजाब प्रांत के करतारपुर साहिब गुरुद्वारा में आयोजित होने वाले समारोह में हिस्सा लेने के लिए 178 सदस्यीय सिख प्रतिनिधिमंडल ब्रिटेन से पाकिस्तान पहुंच गया है।

डॉन न्यूज ने सोमवार को बताया कि रविवार को पहुंचने के तुरंत बाद, 178 सदस्यीय समूह गुरुद्वारा जन्मस्थान ननकाना साहिब और शेखूपुरा जिले के गुरुद्वारा सच्चा सौदा के लिए रवाना हो गया।

पाकिस्तान गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने घोषणा की है कि बाबा गुरुनानक की जयंती समारोह पूरे नवंबर भर जारी रहेगा। भारत के साथ-साथ यूरोप और उत्तरी अमेरिका के सिख तीर्थयात्री इस संबंध में आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

पंजाब इवैक्यूई ट्रस्ट बोर्ड के प्रवक्ता आमेर हाशमी ने कहा कि मुख्य कार्यक्रम 12 नवंबर को करतारपुर साहिब गुरुद्वारा में होगा। इस बीच, सोने की पालकी के साथ करीब 1,100 सिख तीर्थयात्रियों का पहला जत्था 31 अक्टूबर को वाघा बॉर्डर से होकर यहां पहंुचा। मंगलवार को करतारपुर साहिब गुरुद्वारा में पालकी स्थापित की जाएगी।

इस बीच, करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन शनिवार को किया जाएगा। यह कॉरिडोर भारतीय सिख तीर्थयात्रियों को धर्मस्थल की यात्रा करने के लिए पाकिस्तान जाने की सुविधा प्रदान करेगा। करतारपुर साहिब गुरुद्वारा, जिसे मूल रूप से गुरुद्वारा दरबार साहिब के नाम से जाना जाता है, सिखों का प्रमुख धार्मिक स्थल है। यहां गुरुनानक देव ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए थे।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप