रावलपिंडी। पाकिस्तान में तीन पायलटों ने सोमवार को पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के तीन विमान उड़ान से मना कर दिया। ये तीनों विमान इस्लामाबाद से गिलगित और स्कार्दू जाने वाली थीं। पायलटों का आरोप था कि पाकिस्तान एयरलाइन पायलट एसोसिएशन(पलपा) ने कोरोनावायरस मानक संचालन प्रक्रियाओं(एसओपी) की अनदेखी की है जिसके कारण दो पायलट और एक केबिन क्रू के सदस्य को कोरोना हो गया है। उनकी रिपोर्ट पाजिटिव आई है। पालपा महासचिव इमरान नारेजो ने पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन को बताया कि हमारी हड़ताल जारी है। 

तीन सदस्यों के कोरोना पाजिटिव पाए जाने पर एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि पायलटों और क्रू मेंबर के स्वास्थ्य के साथ कोई समझौता नहीं किया जा सकता है। यदि उनको इससे सुरक्षा के लिए चीजें नहीं मुहैया कराई जाएंगी तो वो विमान नहीं उड़ाएंगे। अपने सदस्यों को लिखे पत्र में, पलपा ने कहा कि पायलेटों की रक्षा से समझौता किया गया था और कोरोनोवायरस से संबंधित एसओपी ने हाल ही में संचालित मानवीय उड़ानों पर ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण तीन सदस्य संक्रमित हुए।

पालपा महासचिव इमरान नारेजो ने पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन को बताया कि हमारी हड़ताल जारी है। पायलटों और अन्य चालक दल के सदस्यों की सुरक्षा के बारे में प्रबंधन द्वारा कोई उपाय नहीं किया गया है क्योंकि तीन पायलट और तीन केबिन क्रू सदस्य वायरस से प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि पालपा किसी भी परिस्थिति में अपने सदस्यों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेगा।

एसोसिएशन ने रविवार को टोरंटो से कराची पहुंचने पर सिंध के स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा एक विशेष पीआईए उड़ान के चार चालक दल के सदस्यों को अलग करने के बाद उड़ान संचालन को रोकने का फैसला किया। गिलगिट के लिए पीआईए 605 और पीके-607 और स्कार्दू के लिए पीके-451 को रद्द कर दिया गया, लेकिन बर्मिंघम और उज्बेकिस्तान से आने वाली दो विशेष उड़ानें 250 से अधिक फंसे हुए पाकिस्तानियों को लेकर आईआईए में सोमवार को उतरीं।

पीआईए के प्रवक्ता अब्दुल्ला हफीज ने बताया कि बिना किसी रुकावट के उड़ान संचालन जारी रखने के प्रयास चल रहे थे। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को हल करने के लिए पलपा के साथ बातचीत की जा रही है हालांकि पीआईए ने कर्मचारियों और यात्रियों के लिए सभी सुरक्षा उपाय किए हैं। एविएशन डिवीजन के अनुसार, उड़ान संचालन बंद होने के बाद नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के कर्मचारियों ने क्लोरीनयुक्त पानी के साथ गिलगित हवाई अड्डे को कीटाणुरहित कर दिया है। जिससे संक्रमण का खतरा न रहे।  

Posted By: Vinay Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस