काबूल/कतर, एजेंसी। अफगानिस्‍तान ने पाकिस्‍तान पर आरोप लगाया है कि सीमा पर से होने वाली झड़पों के दौरान 15 नागरिकों की हत्‍या हो गई है। सीमा संघर्ष में 22 लोग मारे जा चुके हैं। अफगानिस्‍तान का कहना है कि पाकिस्‍तान ने इस घटना को तब अंजाम दिया जब ईद-अल-अधा पर्व के मौके पर यह भीड़ सीमा पार कर रही थी।  अफगानिस्तान के दक्षिणपूर्वी कंधार प्रांत के गवर्नर हयातुल्लाह हयात ने कहा कि दोनों देशों के सुरक्षा बलों के बीच झड़पों के दौरान 15 मृतकों और 80 लोग घायल हैं। उन्‍होंने कहा कि मरने वालों में महिलाएं एवं बच्‍चे भी शामिल हैं। 

उधर, पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि अफगान सेना ने भीड़ पर गोलियां चलाई। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान की सेना ने स्‍थानीय आबादी की रक्षा के लिए केवल आत्‍मरक्षा के लिए जवाब दिया है। पाकिस्‍तान ने स्थिति पर काबू पाने के लिए तुरंत सैन्‍य और राजनयिक चैनल को सक्रिय कर दिए। उधर, अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा अगर पाकिस्तानी सेना अफगान क्षेत्र पर अपने रॉकेट हमलों को जारी रखती है, तो उन्हें जवाबी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।

हालांकि, प्रदर्शनकारियों ने रॉयटर्स को फोन पर बताया कि पाकिस्‍तान सुरक्षा बलों ने भीड़ पर गोलियां चलाईं। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते सीमा पर ज्‍यादातर क्रॉसिंग बंद थी। बुधवार को थोड़े समय के लिए क्रॉसिंग को खोला गया था। गुरुवार को दोनों देशों के नागरिकों को ईद के लिए पार करने की अनुमति दी गई, लेकिन जब पाकिस्‍तान की ओर क्रॉसिंग नहीं खोला गया तब जमा भीड़ प्रदर्शन करने लगी और उग्र भीड़ ने पाकिस्‍तान के एक क्वारंटाइन सेंटर और पाकिस्‍तान सरकार के प्रसंस्करण केंद्र में आग लगा दी। बता दें कि हाल ही में दोनों देशों ने सीमा सुरक्षा और निगरानी कड़ी कर दिया है, क्योंकि दोनों देशों ने एक-दूसरे पर चरमपंथियों के लिए सुरक्षित ठिकाने उपलब्ध कराने का आरोप लगाया है।   

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस