दुबई, रायटर। ईरान के कट्टरपंथी भावी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने कहा कि वह अमेरिका के लगाए मनमाने प्रतिबंधों को हटाने के लिए कदम उठाएंगे। ऐसा वह इसी हफ्ते सुप्रीम नेता का पद संभालने की औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद करेंगे। रईसी पर पहले से ही अमेरिका ने बतौर जज मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों को लेकर प्रतिबंध लगा रखे हैं। जून में निर्वाचित रईसी अब हसन रुहानी की जगह लेने वाले हैं। वह गुरुवार को संसद में शपथ लेने के बाद राष्ट्रपति पद ग्रहण करेंगे।

रईसी ने टेलीविजन पर मंगलवार को प्रसारित अपने भाषण में कहा कि हम अमेरिका के अन्यायपूर्ण प्रतिबंधों को हटाने के रास्ते निकालेंगे। वहीं इससे पहले, एक समारोह में ईरान के प्रमुख नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने औपचारिक रूप से इब्राहिम रईसी को इस्लामिक रिपब्लिक का नया राष्ट्रपति घोषित करते हुए सलाह दी है कि वह देश के गरीब लोगों को सशक्त बनाएं और देश की मुद्रा में सुधार लाएं।

उल्लेखनीय है कि ईरान और छह अन्य महाशक्तियां मिलकर 2018 में प्रतिबंधित हुई परमाणु संधि को बहाल करने के लिए अप्रैल तक वार्ता कर रही थीं। ईरान और अमेरिका के बीच छठे दौर की बातचीत वियना में हुई थी जो 20 जून को स्थगित हो गई थी। इसके अलावा, इजरायली जहाज को ड्रोन से निशाने बनाने के दोष अमेरिका, इजरायल और ब्रिटेन की ओर से लगाए जाने के बाद ईरान ने कहा कि वह अपनी सुरक्षा को खतरे में नहीं पड़ने देगा।

यह भी पढ़ें : मप्र : आयुष्मान योजना में 12 हजार कोरोना मरीजों का हुआ इलाज, सीएम ने कहा- सभी पात्र हितग्राहियों का बनेगा कार्ड

यह भी पढ़ें : अंडमान और निकोबार में बेरोजगारी को लेकर सांसद ने जताई चिंता, स्थानीय लोगों के लिए 100 फीसद आरक्षण का किया अनुरोध

Edited By: Neel Rajput