हांगकांग, एपी। रविवार को शहर के एयरपोर्ट को जाने वाले कुछ मार्गो को बंद करके प्रदर्शन किया। जिसके चलते एयरपोर्ट की ओर जाने वाली ट्रेन सेवा को निलंबित करना पड़ा। बता दें कि हांगकांग में पिछले तीन महीनों से सरकार विरोधी प्रदर्शनों में लगातार तेजी दिखाई दे रही है। ये प्रदर्शन जून में एक प्रत्यर्पण संबंधित विधेयक को वापस लेने को लेकर शुरू हुए थे, जिसके तहत हांगकांग के निवासियों को मुकदमे के लिए चीन भेजे जाने का प्रावधान था। फिलहाल इस विधेयक पर रोक लगा दी गई है।

निलंबित करनी पड़ी ट्रेन सेवा 
प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच चल रही रस्साकशी के बीच हांगकांग से एयरपोर्ट के लिए जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन सेवा को निलंबित कर दिया गया। हालांकि एमटीआर कारपोरेशन ने एयरपोर्ट से हांगकांग शहर के बीच ट्रेनें यथावत चलने का दावा किया। मीडिया के मुताबिक ज्यादातर प्रदर्शनकारी शांत थे, लेकिन एक सरकारी बयान में कहा गया है कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस और एयरपोर्ट के कर्मचारियों पर चीजें फेंकी थीं। वहीं एक अलग बयान में कहा गया है कि प्रदर्शनकारियों ने अवरोध पैदा करने के लिए एयरपोर्ट ट्रेन के ट्रैक पर लोहे के खंभे, ईंटें और चट्टानें फेंकी हैं।

छात्रों ने भी खोला मोर्चा 
लोकतंत्र के समर्थन में कई सरकारी माध्यमिक स्कूलों के छात्रों ने भी सोमवार को स्कूलों में मानव श्रृंखला बनाई। इनमें से कुछ छात्र गैस मास्क, हेलमेट और चश्मा पहने हुए थे। बता दें कि आंसू गैस और पुलिस के साथ झड़प में ये साजो सामान प्रदर्शनकारियों का बचाव करते हैं और अब ये उनका हथियार बन गए हैं। वहीं विरोध प्रदर्शनों में शामिल हो रहीं महिलाओं ने दुष्कर्म की धमकी मिलने और सोशल मीडिया पर चीनी सोशल मीडिया उपयोक्ताओं की ओर से ट्रोल किए जाने का भी आरोप लगाया है। 

वाणिज्य दूतावास के बाहर भी प्रदर्शन
प्रदर्शनकारियों ने रविवार को ब्रिटिश वाणिज्य दूतावास के बाहर भी प्रदर्शन किया और ब्रिटेन से चीन के कब्जे में आने से पहले उपनिवेश में पैदा हुए लोगों को नागरिकता प्रदान करने की मांग की। 200 प्रदर्शनकारियों ने ब्रिटिश झंडे हाथों में ले रखे थे, वहीं ‘अब समान अधिकार’ और ‘हांगकांग के साथ खड़े होने’ जैसे नारे लगा रहे थे। काला चश्मा पहने एक व्यक्ति सेक्सोफोन पर ब्रिटेन का ‘राष्ट्रगान गॉड सेव द क्वीन’ बजा रहा था। दरअसल कई लोग चाहते हैं कि लंदन 1997 से पहले हांगकांग में पैदा हुए लोगों को नागरिकता प्रदान करे, लेकिन ब्रिटिश सरकार ने इससे इन्कार कर दिया है।

बैरिकेड लगाकर रास्ता रोका 
विवादास्पद प्रत्यर्पण बिल को लेकर हांगकांग में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच रविवार को प्रदर्शनकारियों ने एयरपोर्ट जाने वाले मार्ग पर बैरिकेड लगाकर रास्ता रोक दिया। ऐसे में परेशान यात्रियों को पैदल ही एयरपोर्ट तक जाना पड़ा। प्रदर्शन के दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच तीखी झड़पें भी हुईं। कई स्थानों पर आगजनी की गई है। पुलिस ने नियंत्रण पाने के लिए आंसू गैस के गोले भी दागे।

पुलिस ने 63 लोगों को गिरफ्तार किया
शनिवार रात हांगकांग के प्रिंस एडवर्ड और मोंग कोक मेट्रो स्टेशन में अवैध रूप से घुसने, संपत्ति को नष्ट करने और काम में बाधा डालने के आरोप में कम से कम 63 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में 13 से 36 वर्ष के 54 पुरुष और नौ महिलाएं हैं। रविवार को पुलिस ने यह जानकारी दी।

प्रदर्शनकारियों पर किया गया नीली डाई वाले पानी का प्रयोग
शनिवार रात पुलिस ने पहली बार हांगकांग मेट्रो स्टेशन पर प्रदर्शन कर रहे लेागों पर नीली डाई वाले पानी का प्रयोग किया। ऐसा प्रदर्शनकारियों को अलग से पहचानने के उद्देश्य से किया गया। वहीं चाइना मार्निग पोस्ट के मुताबिक प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने दो हवाई फायर भी किए। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप