नेपीतॉ, एपी। अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने बुधवार को कहा कि उनका देश म्यांमार के सुरक्षा बलों द्वारा किए गए अत्याचार को लेकर काफी चिंतित है। इस मामले की स्वतंत्र जांच होनी चाहिए। म्यांमार में सैन्य कार्रवाई के चलते लाखों रोहिंग्या मुसलमान पलायन कर बांग्लादेश पहुंच गए हैं।

म्यांमार की नेता आंग सान सू की के साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में टिलरसन ने कहा कि अमेरिका अत्याचार के दोषी पाए जाने वाले लोगों पर निजी तौर पर प्रतिबंध लगाने के बारे में विचार करेगा। वह पूरे देश के खिलाफ व्यापक आर्थिक प्रतिबंध लगाने की सलाह नहीं देंगे। अमेरिकी विदेश मंत्री ने ऐसे समय म्यांमार का एकदिवसीय दौरा किया जब देश में रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ हुए नरसंहार के नए साक्ष्य सामने आए हैं।

सैन्य अभियान के चलते छह लाख से ज्यादा रोहिंग्या पड़ोसी देश बांग्लादेश में पलायन को बाध्य हुए। टिलरसन ने म्यांमार के ताकतवर सैन्य प्रमुख आंग लेंग से भी मुलाकात की। सैन्य प्रमुख की देखरेख में ही रो¨हग्या बहुल रखाइन प्रांत में अभियान चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: रोहिंग्या मुद्दे पर बोलीं सू ची- लोगों को एक दूसरे के खिलाफ भड़काना अच्छी बात नहीं

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस