जेनेवा, रायटर्स। सीरिया में सरकार और उसके सहयोगी देशों और आम नागरिकों के बीच संघर्ष लगातार जारी है। सीरियाई सरकार और उसके रूसी सहयोगी सीरिया के अलग-अलग इलाकों में हमले कर रहे हैं। इस जारी संघर्ष पर संयुक्त राष्ट्र(United Nations) ने गहरी चिंता जताई है। संयुक्त राष्ट्र(United Nations) के मुताबिक सीरियाई सरकार और उसके रूसी सहयोगियों के हवाई हमलों में 100 से ज्यादा नागरिकों ने अपनी जान गंवाई है। यूएन के कहा है कि स्कूलों, अस्पतालों, बाजारों और बेकरियों पर सीरियाई सरकार और उसके रूसी सहयोगियों द्वारा किए गए हवाई हमलों ने पिछले 10 दिनों में कम से कम 103 नागरिकों की जान ले ली है, जिसमें 26 बच्चे भी शामिल हैं।

इससे पहले कल उत्तर-पश्चिमी सीरिया में सीरियाई सरकार और उसके रूसी सहयोगियों द्वारा किये गये बम विस्फोट में पांच बच्चों सहित 18 आम नागरिकों की मौत हो गई थी। सीरिया की एक निगरानी संस्था ने यह जानकारी दी थी।
सीरियाई शासन और इसके रूसी सहयोगियों ने इदलिब प्रांत और एलेप्पो एवं हामा प्रांतों के आसपास के क्षेत्रों में घातक हमले तेज कर दिये हैं। ‘सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स’ ने कहा कि इदलिब प्रांत के खान शेखुन शहर के पास एक खेत में रूसी हवाई हमले में एक ही परिवार के तीन बच्चों सहित दस लोगों की मौत हो गई। संस्था ने कहा कि आठ अन्य लोग सीरियाई शासन द्वारा किये गये हमलों में मारे गये।

सीरियाई शासन और इसके रूसी सहयोगियों ने इदलिब प्रांत और एलेप्पो एवं हामा प्रांतों के आसपास के क्षेत्रों में घातक हमले तेज कर दिये हैं। ‘सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स’ ने कहा कि इदलिब प्रांत के खान शेखुन शहर के पास एक खेत में रूसी हवाई हमले में एक ही परिवार के तीन बच्चों सहित दस लोगों की मौत हो गई। संस्था ने कहा कि आठ अन्य लोग सीरियाई शासन द्वारा किये गये हमलों में मारे गये।

इजरायल का सीरियाई आर्मी बेस पर हमला
इज़राइल ने सीरिया के दक्षिण में एक सैन्य ठिकाने पर मिसाइल से हमला किया है। सीरिया की समाचार एजेंसी SANA ने बुधवार को कहा कि इजरायल के एक मिसाइल हमले ने सीरियाई सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया। इन मिसाइलों को देश के दक्षिण में गोलान हाइट्स के करीब से निकाल दिया गया था, एक क्षेत्र जो इजरायल द्वारा कब्जा कर लिया गया था।SANA समाचार एजेंसी ने बुधवार को कहा, 'इज़रायली दुश्मनों ने टाल अल-हारा इलाके में आधी रात के बाद ये सैन्य कार्रवाईयां की।'  यह कहते हुए कि संपत्ति को नुकसान की खबरें थीं।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस