मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बैंकॉक, एपी। रोहिंग्‍याओं के स्‍वदेश वापसी का दूसरे प्रयास की योजना बन गई है। यह जानकारी शुक्रवार को यूएन रिफ्यूजी एजेंसी की ओर से दी गई। एजेंसी ने बताया कि म्‍यांमार और बांग्‍लादेश रोहिंग्‍याओं के स्‍वदेश वापसी के लिए दूसरी बार प्रयास कर रहे हैं। बता दें कि दो साल पहले म्‍यांमार से 700,000 से अधिक रोहिंग्‍या मुस्‍लिम निकलकर बांग्‍लादेश की शरण में आ गए थे।

एजेंसी की प्रवक्‍ता कैरोलिन ग्‍लुक ने शुक्रवार को बताया कि बांग्‍लादेश सरकार ने अपनी मर्जी से म्‍यांमार लौटने वाले 3,450 लोगों की जांच करने में मदद करे। उन्‍होंने बताया कि 22,000 नामों में से छांटकर यह लिस्‍ट तैयार की गई है जो बांग्‍लादेश ने म्‍यांमार को वेरिफिकेशन के लिए भेजा था।

अगस्‍त 2017 में म्यांमार की सेना ने यह कहते हुए रोहिंग्या समुदाय के खिलाफ अभियान चलाया कि वो विद्रोहियों को निशाना बना रहे हैं। इस कार्रवाई के कारण रखाइन प्रांत से हजारों रोहिंग्या मुसलमानों का पलायन हुआ। आर्मी ऑपरेशन के कारण रोहिंग्‍या पलायन कर बांग्‍लादेश चले गए और सेना पर आरोप है कि उन्‍होंने हजारों घर जला दिए व महिलाओं के साथ दुष्‍कर्म किए।

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप