काबुल, एएनआइ। शरणार्थियों की सहायता के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त ने अपील की है। संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त, फिलिपो ग्रांडी ने अफगानिस्तान में रहे लोगों और शरणार्थियों के लिए तत्काल और निरंतर मदद करने की अपील की है। बुधवार को अफगानिस्तान की अपनी तीन दिवसीय यात्रा के समापन के बाद ग्रैंडी ने कहा, 'अफगानिस्तान में मानवीय स्थिति निराशाजनक बनी हुई है।'

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र की तरफ से कहा गया था कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से 18 मिलियन से अधिक अफगानों को तत्काल मानवीय सहायता की आवश्यकता है। साथ ही बताया था कि 35 लाख से अधिक लोगों को विस्थापित का सामना करना पड़ा था। इतना ही नहीं यहां पर सार्वजनिक सेवाएं और अर्थव्यवस्था ठीक नहीं है।

फिलिपो ग्रांडी ने कहा," अगर अफगानिस्तान में सार्वजनिक सेवाएं और अर्थव्यवस्था ठीक नहीं होती है तो हमे देश के भीतर और बाहर दोनों जगह पर अस्थिरता और विस्थापन का सामना करना पड़ेगा।' उन्होंने आगे कहा कि इसलिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अफगानिस्तान की मदद के लिए आगे आना चाहिए और जल्दी एक बड़े मानवीय संकट को रोकने के कार्य करना होगा।'

काबुल की तीन दिनों की यात्रा पर थे संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त

काबुल की अपनी यात्रा के दौरान फिलिपो ग्रांडी ने अंतरिम अफगान सरकार के साथ-साथ अन्य संयुक्त राष्ट्र और गैर सरकारी संगठनों के कर्मचारियों से मुलाकात की थी। ग्रैंडी ने अंतरिम अफगान मंत्रियों के साथ अपनी बैठक के बाद कहा, 'हमने अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी चर्चा की है। इस दौरान हमने महिला कर्मचारियों के काम पर वापस लौटने के साथ बच्चों के लिए शिक्षा का महत्व और सुरक्षा संबंधित मुद्दों पर बातचीत की।

ग्रांडी ने कहा कि उन्होंने अंतरिम सरकार को इन महत्वपूर्ण प्रतिबद्धताओं को सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित किया किया है। बता दें कि अपनी यात्रा के दौरान, ग्रांडी ने काबुल में यूएनएचसीआर गोदाम में ट्रकों के एक काफिले के आगमन का निरीक्षण भी किया।

Edited By: Pooja Singh