संयुक्त राष्ट्र, प्रेट्र।  संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासचिव एंटोनियो गुतेरस ने शनिवार को  चक्रवाती तूफान एम्फन के चपेट में मरने वाले लोगों के प्रति संवेदना प्रकट की है। भारत और बांग्लादेश में हुई तबाही पर यूएन महासचिव अपनी नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने तूफान की चपेट में आकर जान गंवाने वाले लोगों के प्रति संवेदना भी प्रकट की है। गुतेरस ने ट्वीट में कहा, 'बुधवार को भारत और बांग्लादेश में आए चक्रवाती तूफान से हुई तबाही पर मेरी नजर बनी हुई हैं। यह सुनकर बहुत दुख हुआ कि तूफान की चपेट में आकर जहां कई लोगों को जान से धोना पड़ा वहीं लाखों दूसरे लोगों को विस्थापित होने के लिए मजबूर होना पड़ा है।' 

बता दें कि दो दशकों में आए सबसे भीषण चक्रवाती तूफान की चपेट में आकर जहां भारत में 85 लोगों की मौत हो गई वहीं डेढ़ करोड़ दूसरे लोग प्रभावित हुए हैं। लगभग 10 लाख से अधिक घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। बांग्लादेश में 22 लोगों की मौत के साथ ही तटीय क्षेत्रों में रहने वाले हजारों लोगों को विस्थापित होने के लिए मजबूर होना पड़ा है।

उधर, भारत में संयुक्त राष्ट्र की कंट्री टीम ने बताया कि कोलकाता के आसपास व्यापक पैमाने पर नुकसान पहुंचाने वाले चक्रवात एम्फन को चक्रवात ऐला से कहीं अधिक विनाशकारी माना जा रहा है। ऐला ने मई 2009 में क्षेत्र में व्यापक तबाही मचाई थी।

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस