मनीला, एएफपी। फिलीपींस में चल रहे आसियान शिखर सम्‍मेलन के दौरान संयुक्‍त राष्‍ट्र (यूएन) प्रमुख एंटोनियो गुतेरस ने म्‍यांमार की नेता आंग सान सू की से मुलाकात की और इस दौरान उन्‍होंने बांग्‍लादेश में रह रहे रोहिंग्‍या शरणार्थियों को वापस लौटने की अनुमति देने की अपील की। संयुक्‍त राष्‍ट्र के कार्यालय ने इसकी जानकारी दी।

रोहिंग्‍या संकट को खत्‍म करने के लिए आवश्‍यक कदम उठाने को लेकर सू की पर दबाव बनाने की कोशिश के तहत अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्‍स टिलरसन ने भी मंगलवार को उनसे बातचीत की। टिलरसन की म्‍यांमार जाने की भी योजना है।

संयुक्‍त राष्‍ट्र के एक बयान में कहा गया कि गुतेरस ने कहा कि रोहिंग्‍या समुदाय के लोगों की वापसी सुनिश्चित किए जाने को लेकर मजबूती से प्रयास करने और वहां समुदायों के बीच सामंजस्य स्‍थापित करने की जरूरत है। गौरतलब है कि जब से म्‍यांमार के रखाइन प्रांत में रोहिंग्‍या समुदाय के खिलाफ सैन्‍य कार्रवाई शुरू हुई है, तब से अब तक छह लाख से ज्‍यादा लोग वहां से भागकर बांग्‍लादेश पहुंच गए हैं और शरणार्थी शिविरों में रह रहे हैं। अभी भी रोहिंग्‍या समुदाय के लोगों का म्‍यांमार से पलायन जारी है। हर दिन लोग बांग्‍लादेश पहुंच रहे हैं और इसके लिए खतरनाक तरीकों का सहारा लेकर समुद्र पार कर वहां जा रहे हैं।

बीते 25 अगस्‍त को रोहिंग्‍या विद्रोहियों द्वारा सुरक्षा बलों पर हमला किए जाने के बाद म्‍यांमार की सेना ने पूरे समुदाय के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी थी। वहां से जान बचाकर भाग रहे लोगों का कहना ह‍ै कि अब भी सेना उनके घरों को जला रही है और प्रताड़ित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: PoK में बढ़ रहा पाकिस्‍तान के खिलाफ रोष, विरोध में सड़कों पर उतरे कश्‍मीरी

 

Posted By: Pratibha Kumari