लंदन, एजेंसियां । मध्यावधि चुनाव कराने का ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का दांव चल गया। उनकी कंजरवेटिव पार्टी ने 650 सदस्यीय संसद में 364 सीटें जीतकर स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया है। इन नतीजों को ब्रेक्जिट (यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के अलग होने) पर ब्रिटिश मतदाताओं की मुहर के तौर पर देखा जा रहा है। चुनाव जीतने के बाद जॉनसन ने कहा कि उन्हें नया जनादेश मिला है। ब्रिटेन 31 जनवरी को यूरोपीय यूनियन से अलग हो जाएगा।

ब्रेक्जिट पर दोबारा जनमत संग्रह की पैरवी करने वाली विपक्षी लेबर पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा है। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के मुद्दे पर भारत का विरोध करने वाली यह पार्टी 203 सीटों पर सिमट गई। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप समेत दुनियाभर के नेताओं ने जॉनसन को जीत पर बधाई दी है। आम चुनाव में सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी की जीत ब्रेक्जिट विरोधी दलों के लिए करारा झटका मानी जा रही है।

लेबर पार्टी समेत कई दलों ने संसद में यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के अलग होने के प्रस्ताव को पारित नहीं होने दिया था। इसी के बाद 55 वर्षीय जॉनसन ने इस उम्मीद के साथ मध्यावधि चुनाव का एलान किया था कि वह चुनाव जीतकर 31 जनवरी को 28 सदस्यीय यूरोपीय यूनियन से अपने देश को अलग करने में सफल होंगे। उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि सिर्फ उनकी ही पार्टी देश को ब्रेक्जिट के जाल से निकाल सकती है। जबकि जेरेमी कॉर्बिन के नेतृत्व वाली विपक्षी लेबर पार्टी ने वादा किया था कि वह ब्रेक्जिट पर दोबारा जनमत संग्रह कराएगी। ब्रिटेन में ब्रेक्जिट पर 2016 में जनमत संग्रह कराया गया था। तब ब्रेक्जिट के पक्ष में 52 फीसद वोट पड़े थे।

लेबर पार्टी ने पारंपरिक सीटें भी गंवाई

वर्ष 1935 के बाद सबसे बड़ी हार का सामना करने वाली लेबर पार्टी को उन सीटों पर भी मुंह की खानी पड़ी है, जिन पर वह पारंपरिक तौर पर जीतती आ रही थी। नॉर्थ लंदन सीट से चुनाव जीतने वाले लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन ने कहा, 'पार्टी के लिए यह बेहद निराशाजनक हार है। मैं अगले चुनाव में पार्टी का नेतृत्व नहीं करूंगा।'

1987 के बाद कंजरवेटिव की बड़ी कामयाबी

वर्ष 1987 के बाद आम चुनाव में कंजरवेटिव पाटी की यह सबसे बड़ी जीत बताई जा रही है। तब मार्गरेट थैचर के नेतृत्व में पार्टी को चुनाव में सबसे बड़ी सफलता मिली थी।

लिबरल डेमोक्रेट नेता का इस्तीफा

आम चुनाव में अपनी सीट गंवानी वाली लिबरल डेमोक्रेट पार्टी की नेता जो स्विनसन ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्हें स्कॉटलैंड की ईस्ट डनबार्टनशायर सीट पर हार का मुंह देखना पड़ा है।

चुनाव नतीजों के मायने

ब्रेक्जिट पर ब्रिटेन में पिछले कई माह से जारी सियासी संकट का दौर खत्म हो जाएगा-प्रधानमंत्री जॉनसन अब ब्रेक्जिट पर आसानी से अपने कदम आगे बढ़ा सकेंगे-31 जनवरी तक यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन अलग हो सकेगा

चुनाव परिणाम

दल             - 2019      - 2017

कंजरवेटिव पार्टी - 364   - 317

लेबर पार्टी       - 203      - 262

स्कॉटिश नेशनल पार्टी - 48 - 35

लिबरल डेमोक्रेट्स - 11 - 12

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस