Move to Jagran APP

नेपाल के दो सांसदों की भारत-नेपाल बॉर्डर पर बाड़ और पासपोर्ट व्यवस्था लागू करने की मांग, कहा- भारतीय आधार कार्ड...

सत्तारूढ़ नेकपा एमाले के सांसद महेश बतौला ने कहा कि खुली सीमा होने के कारण अपराधी नेपाल में वारदात कर आसानी से भारतीय क्षेत्र में भाग जाते हैं। सीमा पर तारबंदी से अपराधियों व विदेशी घुसपैठ के मामलों पर अंकुश लगेगा। नेकपा एमाले के सांसद रघुजी पंत ने भारतीय नागरिकों को पासपोर्ट के बगैर नेपाल में प्रवेश रोकने की मांग की।

By Agency Edited By: Abhinav Atrey Thu, 20 Jun 2024 11:47 PM (IST)
नेपाल के दो सांसदों ने काठमांडू स्थित प्रतिनिधि सभा के पटल पर रखा प्रस्ताव। (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, भैरहवा (नेपाल)। नेपाल के दो सांसदों ने भारत-नेपाल की खुली सीमा पर तार की बाड़ और भारतीयों के नेपाल प्रवेश पर पासपोर्ट की अनिवार्यता का प्रस्ताव बुधवार को नेपाल की राजधानी काठमांडू स्थित प्रतिनिधि सभा (सदन) के पटल पर रखा। सांसदों ने अपने प्रस्ताव को सीमा सुरक्षा, घुसपैठ और सीमावर्ती क्षेत्र में अपराध पर अंकुश लगाने से जोड़ते हुए इस पर गंभीरता से अमल करने की अपील की।

सत्तारूढ़ नेकपा एमाले के सांसद महेश बतौला ने कहा कि खुली सीमा होने के कारण अपराधी नेपाल में वारदात कर आसानी से भारतीय क्षेत्र में भाग जाते हैं। सीमा पर तारबंदी से अपराधियों व विदेशी घुसपैठ के मामलों पर अंकुश लगेगा।

आधार कार्ड दिखाकर भारतीय नेपाल आ जाते हैं

नेकपा एमाले के सांसद रघुजी पंत ने भारतीय नागरिकों को पासपोर्ट के बगैर नेपाल में प्रवेश रोकने की मांग की। कहा कि सिर्फ आधार कार्ड को पहचान-पत्र के रूप में दिखाकर भारतीय नेपाल आ जाते हैं। उस पहचान-पत्र के वास्तविकता की जांच के लिए नेपाल में कोई माध्यम नहीं है। नेपाल स्वत्रंत राष्ट्र है। ऐसे में उसकी सीमा सुरक्षा भी राष्ट्र हित में और पुख्ता होनी चाहिए। नेपाल में प्रवेश करने वाले भारतीयों व अन्य विदेशियों का पुख्ता ब्यौरा होने के लिए पासपोर्ट के आधार पर प्रवेश व सरहद की तारबंदी आवश्यक है।

ये भी पढ़ें: दलाई लामा से अमेरिकी सांसदों की मुलाकात पर चीन आगबबूला, धर्म गुरु को दे डाली राजनीति में सुधार करने की नसीहत