टोकियो, एजेंसियां। कोरोना वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। जापान तट पर खड़े जहाज डायमंड प्रिंसेज में मौजूद दो और भारतीयों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, भारतीय विदेश मंत्रालय ने भरोसा दिलाया है कि वह जहाज पर मौजूद अपने नागरिकों की अंतिम जांच के बाद गैर संक्रमित लोगों की स्वदेश वापसी के लिए हर संभव मदद देगा। यह जांच सोमवार से शुरू होने वाली है। क्रूज डायमंड प्रिंसेस पर कुल 3,711 लोग सवार हैं जिसमें कुल 138 भारतीय हैं। इन भारतीयों में चालक दल के 132 सदस्य और छह यात्री शामिल हैं।

अब तक पांच भारतीय संक्रमित 

इस तरह कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले भारतीयों की संख्या पांच हो गई है। हालांकि अभी यह पता नहीं चल सका है कि संक्रमित हुए लोग यात्री हैं या चालक दल से जुड़े हैं। इससे पहले जिन तीन लोगों के टेस्ट पॉजिटिव आए थे, वह सभी चालक दल से जुड़े थे। उधर, रविवार को 70 नए मामले सामने आने के बाद जहाज में मौजूद संक्रमित लोगों की संख्या 355 हो गई है। भारतीय दूतावास ने एक ट्वीट में कहा कि पिछले दो दिनों के दौरान शिप में मौजूद 137 लोगों के संक्रमित होने का पता चला है। इसमें दो भारतीय भी हैं। 

1219 लोगों की हो चुकी है जांच 

भारतीय दूतावास ने बताया कि पहले संक्रमित हुए चालक दल के तीन भारतीय सदस्यों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। उन्हें किसी प्रकार का बुखार और दर्द नहीं है। हम शिप में मौजूद भारतीय नागरिकों से आशा करते हैं कि वह इस स्थिति का बहादुरी से मुकाबला करेंगे। जैसे ही आइसोलेशन की अवधि (19 फरवरी) खत्म होगी, हम उन्हें जल्द से जल्द भारत लाने की हरसंभव कोशिश करेंगे। जापान के स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक शिप में मौजूद 1219 लोगों की जांच की जा चुकी है। 

ये देश भी अपने नागरिकों को निकालेंगे 

डायमंड प्रिंसेज नाम का यह शिप पांच फरवरी को योकोहामा बंदरगाह पहुंचा था। चूंकि शिप से मलेशिया में एक यात्री उतरा था, जो बाद में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था, इसी के चलते इस जहाज को बंदरगाह पर 14 दिनों के लिए आइसोलेशन में खड़ा कर दिया गया। इस शिप में 3711 लोग सवार हैं, इसमें 138 भारतीय हैं। इनमें छह चालक दल से जुड़े हैं। उधर, अमेरिका के साथ ही दक्षिण कोरिया, हांगकांग और कनाडा ने भी अपने ऐसे यात्रियों को वापस लाने की बात कही है, जिनका रिजल्ट निगेटिव आया है।

चीन को दवाओं की खेप भेजेगा भारत

चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर भारत वहां दवाओं की खेप भेजेगा। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिश्री ने दूतावास के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर जारी एक वीडियो पोस्ट में कहा कि वायरस के प्रकोप से निपटने के एक ठोस कदम के तौर पर भारत जल्द ही चिकित्सा आपूर्ति की एक खेप भेजेगा।

कंबोडिया ने दी लंगर डालने की अनुमति

अमेरिका एमएस वेस्टरडैम नाम के क्रूज को कंबोडिया में लंगर डालने की अनुमति मिल गई। दरअसल, इस जहाज में कोई वायरस ग्रस्त मरीज नहीं था, लेकिन 83 वर्षीय अमेरिकी महिला जो मलेशिया में उतर गई थी, उसका टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद इसे कई देशों ने लंगर डालने की अनुमति देने से इन्कार कर दिया था। क्रूज संचालक के अनुरोध पर उसका दोबारा टेस्ट किया गया, जिसमें भी उसका रिजल्ट पॉजिटिव आया।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस