तुर्की, एपी। तुर्की के संसद में विस्फोटक उपकरण के साथ घुस रहे दो संदिग्ध वामपंथी उग्रवादियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। अधिकारियों ने बुधवार को इसकी जानकारी दी।

राष्ट्रपति के कम्युनिकेशन डायरेक्टर फहार्टिन अल्टुन ने एक ट्वीट में कहा कि संदिग्धों की पहचान प्रतिबंधित रिवोल्यूशनरी पीपुल्स लिबरेशन पार्टी-फ्रंट के सदस्यों के रूप में की गई है, जिन्हें डीएचकेपी-सी के रूप में भी जाना जाता है।

कम्युनिकेशन डायरेक्टर ने कहा कि यह राष्ट्र की शांति भंग करने की एक कोशिश थी। हिरासत में लिए गए महिला और पुरुष ने मंगलवार को संसद भवन में आने से पहले सुरक्षा अधिकारी को बंधक बनाने की कोशिश की। दोनों संदिग्ध नुकीली वस्तुएं ले जा रहे थे और एक वस्तु ऐसी भी थी जो बम की तरह नजर आ रहा था।

बता दें कि डीएचकेपी-सी को तुर्की, अमेरिकी और यूरोपीय संघ द्वारा एक आतंकवादी संगठन माना जाता है। यह समूह तुर्की में हत्या और बम धमाकों के लिए जिम्मेदार है, जिसमें अंकारा में अमेरिकी दूतावास पर 2013 का आत्मघाती बम हमला भी शामिल है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitesh