सिडनी, रायटर। आस्ट्रेलिया के शीर्ष विश्वविद्यालय ने शुक्रवार को कहा कि उसने अपनी कंप्यूटर प्रणाली को खतरे से बचाने के लिए महीनों लगाए हैं। मीडिया के मुताबिक कंप्यूटर प्रणाली पर यह हमला चीनी हैकरों ने किया था।

चैनल-9 टेलीविजन और फेयरफैक्स मीडिया वेबसाइट्स ने सुरक्षा और खुफिया एजेंसी के सूत्रों के हवाले से बताया कि कुछ महीनों पहले कैनबरा स्थित आस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी (एएनयू) के नेटवर्क में हैकरों ने सेंध लगाई थी। बाद में अधिकारियों को पता चला कि ये हैकर चीन के थे। एएनयू ने एक बयान जारी कर बताया कि हैकरों के इस हमले में किसी भी कर्मचारी, छात्र या अनुसंधान से जुड़ी कोई भी जानकारी चोरी नहीं हुई है। वहीं, आस्ट्रेलिया सरकार का कहना है कि विभिन्न देशों की सरकारें और आपराधिक समूह बौद्धिक संपदा की चोरी के लिए विश्वविद्यालयों पर इस तरह के हमले करते हैं, लेकिन इसमें न तो हमले का स्त्रोत उजागर किया गया है और न ही चीन का नाम लिया गया है।

मालूम हो कि हैकिंग और इंटरनेट जासूसी के लगातार आरोपों के कारण ही पिछले दिनों में चीन और आस्ट्रेलिया के संबंधों में ठंडापन आ गया है। यह ठीक वैसा ही है, जैसे चीन और अमेरिका के संबंध लंबे समय तक तनावपूर्ण रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस