सियोल, एएफपी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे के मद्देनजर कोरियाई प्रायद्वीप के नजदीक पहुंचे तीनों अमेरिकी विमानवाहक पोत अब वहां पर नौसैनिक अभ्यास करेंगे। उत्तर कोरिया के साथ अमेरिका की करीब साल भर से जारी तनातनी के बीच पहला मौका है जब तीन विमानवाहक पोत कोरियाई जल सीमा में पहुंचे हैं। ये तीनों ही युद्धपोत परमाणु हथियारों समेत तमाम तरह की अत्याधुनिक युद्ध प्रणालियों से लैस हैं।

अमेरिकी नौसेना के बयान में कहा गया है कि यूएसएस रोनाल्ड रीगन, यूएसएस निमित्ज और यूएसएस थियोडोर रुजवेल्ट अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में सैन्य अभ्यास करेंगे। अमेरिकी नौसेना के प्रशांत क्षेत्र के कमांडर स्कॉट स्विफ्ट के अनुसार सन 2007 के बाद पहली बार तीन युद्धपोत एक स्थान पर आकर एक साथ युद्धाभ्यास करेंगे। इस अभ्यास में दक्षिण कोरिया के मध्यम आकार के सात युद्धपोत, तीन विध्वंसक और चार सहयोगी पोत भी शामिल होंगे।

परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया इस तरह के युद्धाभ्यासों का घोर विरोधी है। अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने जब भी ऐसी अभ्यास किए हैं, तब उसने जवाब में नया मिसाइल टेस्ट किया है। उत्तर कोरिया इन अभ्यासों को खुद पर हमले की तैयारी मानता है।

राष्ट्रपति ट्रंप इन दिनों एशिया दौरे पर हैं और उनका मुख्य उद्देश्य उत्तर कोरिया को घेरना है। उस पर लगे प्रतिबंधों का कड़ाई से पालन कराना है। परमाणु हथियारों और बैलेस्टिक मिसाइल विकसित करने के लिए वह उत्तर कोरिया को दुष्परिणामों की चेतावनी दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तर कोरिया को काबू करने के लिए प्रयास बढ़ाए चीन: अमेरिका

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस