वाशिंगटन, आइएएनएस। तालिबान आतंकी समूह ने अब तक अफगानिस्तान के करीब आधे हिस्से को अपने काबू में कर लिया है। अमेरिका के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ के चेयरमैन जनरल मार्क मिले (Mark Milley) ने पेंटागन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया, 'देश के 419 जिला केंद्रों में से 212 जिलों पर अपना कब्जा कर लिया है।' जनरल मिले ने कहा कि अफगानिस्तान में दबदबा बनाने की जंग में तालिबान रणनीतिक गति में बढ़ता दिख रहा है। उन्होंने कहा, 'यह अफगानिस्तान की सुरक्षा, अफगानिस्तान सरकार और अफगानिस्तान के लोगों की इच्छाशक्ति एवं नेतृत्व की परीक्षा होगी।' 

जनरल मिले के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि अमेरिकी सेना के प्रयास तालिबान पर नहीं, बल्कि आतंकवादी खतरों से निपटने पर केंद्रित होंगे। अमेरिका 11 सितंबर 2001 को अमेरिका पर हमला करने वाले अलकायदा पर नजर रखेगा। रक्षा मंत्री ऑस्टिन ने कहा कि तालिबान ने 2020 में संकल्प किया था कि वह भविष्य में अफगानिस्तान को अलकायदा के लिए पनाहगाह नहीं बनने देगा और उन्होंने उम्मीद जताई कि तालिबान अपना संकल्प याद रखेगा।

जनरल मिले ने बताया कि अफगानिस्तान के 419 जिला केंद्रों में से अब आधे केंद्रों पर तालिबान का कब्जा है और उसने अभी तक देश की 34 प्रांतीय राजधानियों में से किसी पर कब्जा नहीं किया है, लेकिन वह उनमें से लगभग आधी राजधानियों पर दबाव बना रहा है। उन्होंने कहा कि तालिबान अधिक क्षेत्र पर कब्जा कर रहा है और इस बीच अफगान सुरक्षा बल काबुल सहित प्रमुख जनसंख्या केंद्रों की सुरक्षा के लिए अपनी स्थिति मजबूत कर रहे हैं। जनरल ने आगे बताया कि तालिबान ने छह, आठ, 10 महीनों के दौरान काफी बड़े क्षेत्र पर कब्जा कर लिया गया है, इसलिए तालिबान रणनीतिक गति हासिल करता दिख रहा है।पेंटागन ने कहा है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी बलों की वापसी की प्रक्रिया 95 फीसद पूरी हो चुकी है और यह 31 अगस्त तक समाप्त हो जाएगी।