बेयरूत (रॉयटर्स)। सीरिया में विद्रोहियों के खिलाफ सेना का अभियान जारी है। सोमवार को होम्स के निकट विद्रोहियों के इलाके में सीरियाइ सेना ने बमबारी की। जानकारी के अनुसार राष्ट्रपति बशर अल-असद ने विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाकों पर दोबारा कब्जा करने के लिए बमबारी शुरू की है, जिसके तहत पूरे इलाकों को सेना ने घेर लिया है। रविवार को सीरियाइ सेना ने कहा कि मिसाइलों ने उत्तर सीरिया के अड्डों पर हमला किया।

युद्ध की निगरानी करने वाली संस्था ने कहा कि इस हमलों के जरिए रॉकेट भंडारन की जगह को टारगेट किया और ईरानी व ईराकी सेनानियों को मार गिराया गया। उन्होंने कहा, पहले भी इजराइली सेना ने सीरिया में बढ़ती ईरानी उपस्थिति को लक्षित करने के लिए हवाई हमले का इस्तेमाल किया था। सीरिया सेना ने होम्स और हामा के बीच हवाई हमला किया। सीरियाई विद्रोहियों की उत्तर-पश्चिम और दक्षिण-पश्चिम सीरियाइ क्षेत्र में बड़ी पकड़ है।

रविवार को सीरियाई डेमोक्रेटिक फोर्स (एसडीएफ) ने कहा कि उसने कई गांवों को दोबारा अपने कब्जे में ले लिया है, जिसपर प्रो-गवर्मेंट फोर्स का अबतक कब्जा था। दरअसल, अमेरिकी समर्थित सीरिया में विद्रोही ग्रुप सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्स (एसडीएफ) ने सरकार के मिलिट्री बेस पर हमला किया है। सीरियाइ आर्मी ने भी रविवार को कहा कि हामा और अलेप्पो मे मिलिट्री बेस को निशाना बनाया गया है। सीरियाइ मीडिया के मुताबिक, रात करीब 10.30 बजे दुश्मनों ने मिसाइल से हमला किया गया। वहीं, एसडीएफ ने कहा कि उनके लड़ाकों ने बशर अल-असद सेना का जमकर मुकाबला किया। सीरिया में इजरायल द्वारा ईरान समर्थित मिलिट्री बेस या विद्रोहियों को निशाना बनाया जा रहा है। 

सीरिया की सेना ने इस महीने की शुरुआत में पूर्वी घोटा को फिर से अपने कब्जे में करने के लिए बड़े पैमाने पर बमबारी की थी, जिस कारण वह मुख्य लड़ाई का केंद्र रहा। सोमवार को राज्य टेलीविजन पर प्रसारित खबर में दिखाया गया कि उत्तर सीरिया में बसों के प्रस्थान के साथ विद्रोहियों द्वारा घिरे दो गांवों से नागरिकों को निकालने के लिए तैयारी की गई। वहीं, दक्षिण दमिश्क में ताहिर अल-शाम से हुए आत्मसमर्पण सौदा दो सराकरी आयोजित गांव अल-फ़ुआह और केफरया को छोड़ने की अनुमित देने का सौदा था।

Posted By: Nancy Bajpai