मेलबर्न, प्रेट्र/रायटर। भारत समेत दर्जन भर से ज्यादा देशों के दूतावासों में सफेद पाउडर से भरे संदिग्ध पैकेट मिलने से बुधवार को ऑस्ट्रेलिया में सनसनी फैल गई। जिन देशों के दूतावासों में संदिग्ध पैकेट मिले हैं उनमें अमेरिका और ब्रिटेन के दूतावास भी शामिल हैं। इन पैकेट पर एसबेस्टस लिखा हुआ है और इनसे किसी को नुकसान पहुंचने की खबर नहीं है, लेकिन एंबुलेंस सर्विस ने कुछ लोगों की जांच की है, उनके परीक्षण कराए हैं। पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है।

ऑस्ट्रेलिया फेडरल पुलिस के अनुसार ये पैकेट मेलबर्न और कैनबरा स्थित विभिन्न देशों के दूतावासों में भेजे गए। पुलिस ने इन पैकेटों को कब्जे में लेकर पदार्थ की फॉरेंसिक जांच के लिए उन्हें प्रयोगशाला में भेजा है। इन पैकेटों को भेजने वाले की तलाश शुरू कर दी गई है। पुलिस के अनुसार दूतावासों को खासतौर पर निशाना बनाया गया है और उनमें दहशत पैदा करने की कोशिश की गई है। इसका जनसामान्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। दूतावासों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दो दिन पहले ही सिडनी स्थित अर्जेटीना के दूतावास में संदिग्ध पावडर मिला था। उसकी जांच अभी पूरी नहीं हुई है।

पुलिस को ये पैकेट सबसे पहले भारतीय और अमेरिकी दूतावास से मिले। सेंट किल्डा रोड पर दोनों दूतावास आसपास हैं। इसके बाद अन्य दूतावासों में संदिग्ध पैकेट मिलने की सूचना प्राप्त हुई। भारतीय दूतावास ने किसी भी तरह का नुकसान न होने की सूचना दी है। पाकिस्तानी दूतावास में भी संदिग्ध पैकेट मिला और वहां कार्यरत एक कर्मचारी ने उसे खोलकर देखा भी। उसे होने वाले नुकसान की खबर नहीं है।

पाकिस्तानी महावाणिज्य दूत को संबोधित एक पत्र भी मिला है। जिन अन्य देशों के दूतावासों में संदिग्ध पैकेट मिले हैं उनमें दक्षिण कोरिया, जर्मनी, इटली, स्विट्जरलैंड, ग्रीस और इंडोनेशिया के दूतावास शामिल हैं। जिन दूतावासों में संदिग्ध पैकेट मिले हैं, उनके आसपास के इलाके को खाली करा लिया गया है। दूतावास कर्मियों को मास्क पहनकर ही बिल्डिंग से बाहर आने की सलाह दी गई है। मेट्रोपोलिटन फायर ब्रिगेड और पुलिस के कर्मचारी केमिकल सूट पहनकर मामले की जांच कर रहे हैं। 

Posted By: Manish Negi