कोलंबो, पीटीआइ। ईस्टर के मौके पर हुए सीरियल बम ब्लास्ट के बाद श्रीलंका सरकार हर तरफ से चौकन्ना है। श्रीलंका सरकार ने वीजा उल्लंघन करने वाले विदेशियों को देश से बाहर करने का ऐलान किया है। सीरियल बम ब्लास्ट के बाद से श्रीलंका में सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से छानबीन में लगी हुई हैं।

बुधवार को दो भारतीय नागरिकों को श्रीलंका पुलिस ने राजागिरिया क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया था। इन दोनों भारतीय नागरिकों पर अनाधिकृत तौर पर श्रीलंका में रहने का आरोप था। पिछले सप्ताह भी इन्हीं आरोपों पर 13 विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था। इसमें एक भारतीय नागरिक भी शामिल था। कुछ दिन पहले ही राजधानी कोंलबो के कई हिस्सों से पुलिस ने दस नाइजिरिया के लोगों को गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही पुलिस ने एक-एक ईराक और थाइलैंड के नागरिक को गिरफ्तार किया था। 

आंतरिक और गृह मामलों के मंत्री वाजिरा अबेयवर्दाना ने गुरुवार को कहा कि वीजा नियमों में सुधार करते हुए सभी विदेशियों के वीजा जांच पर कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। जो भी विदेशी बिना वीजा के यहां रह रहें हैं, उन्हें जल्द से जल्द सुरक्षा को देखते हुए देश से बाहर किया जाए। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंका के आव्रजन और उत्प्रवास विभाग पुलिस और सेना की सहायता से वैध वीजा के बिना देश में रहने वालों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर और उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा।

वीजा के नियमों में कड़ाई के चलते गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि देश में लगभग 400 विदेशियों के वीजा को खत्म कर दिया गया है। गौरतलब है कि श्रीलंका में हुए ईसाइयों के पर्व ईस्टर के मौके पर विभिन्न चर्च और पांच सितारा होटलों को निशाना बनाकर किए गए आतंकी हमलों में कम से कम 253 लोगों की मौत हो गई और 500 लोग घायल हो गए। इसे श्रीलंका के इतिहास में सबसे भयावह हमला माना जा रहा है। सरकार अब पूरी तरह से हमलों की जांच कर रही हैं, संदिग्धों को पकड़ने के साथ ही वीजा में जरा सी खामी के चलते विदेशियों को श्रीलंका से बाहर निकाले जाने के आदेश दे दिया है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस