कोलंबो,पीटीआइ। श्रीलंकाई अधिकारियों ने सोमवार को ईस्टर पर हुए चर्चों और लक्जरी होटलों पर आतंकी हमलों को लेकर एक बड़ा खुलाया किया है। अधिकारियों ने उस जगह को खोज निकाला है, जहां आत्मघाती हमलावरों द्वारा ट्रेनिंग ली गई थी। बता दें कि नौ आत्मघाती हमलावरों ने ईस्टर रविवार को तीन चर्चों और तीन लक्जरी होटलों को धमाकों से दहला दिया था। इस्लामिक स्टेट ने इन हमलों का जिम्मेदारी ली थी, लेकिन सरकार ने हमलों के लिए स्थानीय इस्लामी चरमपंथी समूह नेशनल थाहिद जमशेद (NTJ) को दोषी ठहराया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नुवारा एलिया में ब्लैकपूल क्षेत्र में दो मंजिला इमारत की खोज की गई है। बताया गया कि सेंटहमारुथु, कलमुनाई में NTJ के संबंध में गिरफ्तार हुए कुछ संदिग्धों से पूछताछ के दौरान इस सेंटर का खुलाया किया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि आत्मघाती हमलावर ज़हरान सहित एनटीजे समूह के 38 सदस्यों ने हाल के आतंकवादी हमलों से पहले इस सेंटर का इस्तेमाल अपनी ट्रेनिंग के लिए किया। प्रारंभिक जांच के अनुसार, 17 अप्रैल को अंतिम ट्रेनिंग में ज़हरान ने भाग लिया था। यह दिन घातक ईस्टर हमलों से चार दिन पहले का था।

बता दें कि ईस्टर धमाकों के पीछे के मास्टरमाइंड ज़हरान ने शांगरी-ला होटल पर हमले का नेतृत्व किया और उसके साथ इल्हाम अहमद इब्राहिम के रूप में पहचाना गया दूसरे बम हमलावर भी था। उसने होटल के अंदर ही खुद को उड़ा लिया था बता दें कि जिस बिलड़िंग में ट्रेनिंग सेंटर चलाया जा रहा था, वो किराए पर लिया गया था।

हालांकि इसमें पुलिस ने कथित तौर पर इमारत में दहशतगर्दों को सुविधा प्रदान करने को लेकर घर के मालिक और दो अन्य व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि NTJ द्वारा बड़े पैमाने पर हमलों का कोई इतिहास नहीं है। समूह को पिछले साल पहचाना गया जब उसे बौद्ध प्रतिमाओं पर हमले का दोषी ठहराया गया था। धमाकों में शामिल सभी आत्मघाती हमलावरों को श्रीलंकाई नागरिक माना गया है।

बता दें कि श्रीलंका में बीते 21 अप्रैल को ईस्टर के मौके पर भीषण आतंकी हमले में 250 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 500 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप