कोलंबो, पटीआइ। श्रीलंका के नए राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे ने अपने बड़े भाई महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री बनाने के बाद उन्हें रक्षा और वित्त मंत्रालय का प्रभार भी सौंपा है। राष्ट्रपति ने शुक्रवार सुबह अपनी 16 सदस्यीय कैबिनेट को शपथ दिलाई। उन्होंने अपने एक अन्य बड़े भाई चमल राजपक्षे (77) को भी कैबिनेट में शामिल किया है। चमल को कारोबार और खाद्य सुरक्षा मंत्रालय दिए गए हैं।

यह कार्यवाहक सरकार अगले साल अगस्त तक रह सकती है। लेकिन माना जा रहा है कि मार्च की शुरुआत में इसे भंग कर दिया जाएगा और अप्रैल मेंे संसदीय चुनाव कराए जाएंगे। 70 वर्षीय गोतबाया ने राष्ट्रपति चुनाव में सत्तारूढ़ यूनाइटेड नेशनल पार्टी (यूएनपी) के उम्मीदवार सजित प्रेमदासा को हराया था। राष्ट्रपति चुनाव में अपने उम्मीदवार की हार के बाद रानिल विक्रमसिंघे ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इस इस्तीफे के बाद राष्ट्रपति गोतबाया ने बड़े भाई महिंदा राजपक्षे (74) को प्रधानमंत्री नामित किया था।

संसदीय चुनाव जल्द कराने का किया वादा                        

नई कैबिनेट नियुक्त करने के बाद राष्ट्रपति ने कहा, 'हम संविधान के तहत मजबूत सरकार के लिए जनादेश पाने के लिए यथासंभव शीघ्र चुनाव कराएंगे।' उन्होंने नए मंत्रियों को यह नसीहत भी दी कि वे विविध विभागों और बोर्डो के अध्यक्षों और निदेशकों की नियुक्ति राजनीतिक लाभ के लिए नहीं बल्कि पूरी तरह योग्यता के आधार पर करें।

ईस्टर हमले की नए सिरे से होगी जांच                               

राष्ट्रपति ने ईस्टर के मौके पर गत 21 अप्रैल को हुए आत्मघाती धमाकों की नए सिरे से जांच कराने का वादा किया है। होटलों और चर्चो को निशाना बनाकर किए गए इन हमलों में विदेशी नागरिकों समेत 250 से ज्यादा लोग मारे गए थे और 400 ज्यादा घायल हुए थे। गोतबाया ने कहा कि जांच के लिए एक स्वतंत्र समिति बनाई जाएगी।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप