कोलंबो, पीटीआइ। श्रीलंका के एक वरिष्ठ मंत्री ने सोमवार को सोशल मीडिया के दिग्गज फेसबुक पर आरोप लगाया कि श्रीलंका में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार गोतबाया राजपक्षे की अमेरिकी नागरिकता को लेकर की गई टिप्पणी को फेसबुक ने हटा दिया है।

श्रीलंका में राष्ट्रपति पद के कद्दावर उम्मीदवार और पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे के छोटे भाई गोतबाया राजपक्षे की अमेरिकी नागरिक्ता चुनाव से पहले महत्वपूर्ण मुद्दा बन गई है। श्रीलंका के कानून के मुताबिक दोहरी नागरिक्ता रखने वाला कोई भी व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ सकता।

संचार मंत्री हरिन फर्नाडो ने रविवार को अपने आधिकारिक मंत्रालय के पेज से एक फेसबुक पोस्ट करके पूछा कि क्या राजपक्षे को चुनाव लड़ने की अनुमति दी जानी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि गोतबाया राजपक्षे ने अमेरिकी नागरिकता नहीं छोड़ी है।

फर्नाडो नो पोस्ट कर पूछा था, 'क्या श्री राजपक्षे कानूनी रूप से श्रीलंका में राष्ट्रपति चुनाव में लड़ने में सक्षम हैं? निर्वाचित होने पर क्या वह शपथ लेने और कार्यालय में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में सक्षम होंगे?'

बता दें कि 20 साल तक सेना में काम करने के बाद गोतबाया लॉस एंजेलिस चले गए थे और उन्होंने 2003 में अमेरिकी ले ली थी। 2005 में वह वापस कोलंबो आ गए और श्रीलंकाई नागरिकता प्राप्त कर अपने भाई के प्रशासन में रक्षा सचिव नियुक्त किए गए। गोतबाया ने जोर देकर कहा कि उन्होंने इस साल मई में अमेरिकी नागरिकता त्याग दी है।

श्रीलंका में 16 नंवबर को राष्ट्रपति पद का चुनाव होना है। श्रीलंका के 16 राजनीतिक दलों ने राष्ट्रपति चुनाव में महिंदा राजपक्षे को समर्थन देने की घोषणा की है। 16 दलों के इस गठबंधन का नाम श्रीलंका पीपुल्स फ्रीडम एलायंस रखा गया है।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप