कोलंबो, एजेंसी। Communal Clashes In Sri Lanka पिछले दिनों ईस्‍टर के मौके पर हुए आतंकी हमलों के बाद अब श्रीलंका में दंगों के भड़कने का खतरा मंडराने लगा है। ताजा घटना श्रीलंका के पश्चिमी तटवर्ती शहर चिला में हुई जहां एक मस्जिद और कुछ मुस्लिम दुकानदारों पर भीड़ के हमले के बाद रविवार को कर्फ्यू लगा दिया गया। अधिकारियों ने बताया कि शहर में अतिरक्ति पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं। स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में हैं। यह कर्फ्यू सोमवार शाम छह बजे तक जारी रहेगा।

अधिकारियों के मुताबिक,  ईसाई बहुल चिला शहर में कैथोलिक और मुसलमानों के बीच शनिवार से तनाव बढ़ रहा था। दोनों समुदायों के बीच कई बार टकराव हुआ। एक ईसाई महिला ने दावा किया कि उसको एक मुस्लिम की दुकान में धमकी दी गई। यह तनाव आज सुबह चर्चों के खुलने के बाद भड़का। बता दें कि आतंकी हमलों के बाद कोलंबो के आर्कबिशप ने स्थिति सामान्‍य होने तक सभी धार्मिक सभाएं स्‍थगित कर दी थी। 

उल्‍लेखनीय है कि श्रीलंका में ईस्‍टर के मौके पर बीते 21 अप्रैल को हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 250 लोगों की मौत हो गई थी और 500 से अधिक घायल हुए थे। इन हमलों को नौ आत्‍मघाती हमलावरों द्वारा अंजाम दिया गया था। आईएस ने इन हमलों की जिम्‍मेदारी ली थी, लेकिन श्रीलंकाई सरकार ने स्‍थानी चरमपंथी समूह तौहीद जमात को इन हमलों के लिए जिम्‍मेदार ठहराया था। 

इस महीने की शुरुआत में श्रीलंकाई शहर नेगोंबो में भी ईसाई और मुस्लिम के बीच झड़पें हुई थीं, जिनमें कई लोग घायल हो गए थे। नेगोंबो शहर ईसाई बहुल है, जहां सेंट सेबेस्टियन चर्च भी पिछले दिनों हुए आतंकी हमलों की चपेट में आया था। ईसाई और मुस्लिम समुदाय के बीच लगातार हो रही झड़पों को देखते हुए आर्कबिशप ने समाज के सभी वर्गों से संयम बरतने की अपील की थी। उन्‍होंने ईसाई समुदाय से कहा था कि वे किसी भी मुस्लिम को चोट न पहुंचाएं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप