सिंगापुर, रायटर्स। सिंगापुर में चीन के फ्लू वायरस को लेकर तमाम एहतियात वाले कदम उठाए गए हैं। इस बीच सिंगापुर के प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को आश्‍वासन देते हुए कहा कि यह वायरस वर्ष 2003 के SARS वायरस जितना खतरनाक नहीं है। साथ ही उन्‍होंने कहाकि सिंगापुर में इससे निबटने के सभी इंतजाम कर लिए गए हैं और एहतियातन कई कदम भी उठाए गए हैं।

बता दें कि वर्ष 2003 में SARS (Severe Acute Respiratory Syndrome) काफी घातक महामारी की तरह फैला था।  ग्‍लोबल ट्रैवल हब ने गुरुवार को अपने देश में कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्‍टि की। बता दें कि SARS के कारण सिंगापुर में 33 मौतें हुईं थी और यह चीन से बाहर इससे बुरी तरह प्रभावित देशों में से एक था।

प्रधानमंत्री ने चीनी नववर्ष के मौके पर अपने संबोधन में कहा, ‘हम अच्‍छी तरह तैयार हैं, क्‍योंकि 2003 में फैले SARS वायरस के बाद इस तरह के मामले से निपटने का अच्‍छा अनुभव है।’ उन्‍होंने आगे कहा, ‘स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कई योजनाएं लागू कर दी है हालांकि यह SARS की तरह घातक नहीं है।’

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस को लेकर मिस्र सतर्क, चीनी पर्यटकों की स्क्रींनिंग शुरू

चीन ने वुहान समेत पांच शहरों में बंद की आवाजाही, कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या हुई 18

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस