कैनबरा, एएनआइ।  ऑस्‍ट्रेलिया के वरिष्‍ठ अधिकारियों और भारत, अमेरिका व जापान के विदेश मंत्रियों के बीच शुक्रवार को वर्चुअल मीटिंग हुई।  अक्‍टूबर में जापान की राजधानी टोक्‍यो में आयोजित की गई थी क्‍वाड मीटिंग में जिन मुद्दों पर सहमति बनी थी उसकी समीक्षा की गई। 2021 में भी वरिष्‍ठ अधिकारियों के संपर्क के साथ  क्‍वाड सहयोगियों के बीच नियमित मंत्री स्‍तरीय मीटिंग जारी रहेगी। 

ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने बताया कि बैठक में अधिकारियों ने कोविड-19 से आर्थिक वृद्धि और क्षेत्रीय स्वास्थ्य के लिए उठाए जाने वाले कदमों को लेकर चर्चा की।  भारत सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि हमने कोविड-19 वैक्सीन की पहुंच को सुविधाजनक बनाने के लिए एक साथ काम करने की अपनी प्रतिबद्धता पर जोर दिया। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने कहा कि जैसे ही कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध हो जाएंगी, हम अपनी प्रतिबद्धता के मुताबिक ही काम करेंगे।

इसके अलावा हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए खुले और समावेशी तरीके से एक साथ काम करने की प्रतिबद्धता पर फोकस किया गया, स्थानीय साझेदारों को भी इसमें शामिल किया जाएगा। विदेश मंत्रालय ने कहा, शुक्रवार की बैठक ने सितंबर में हुई अधिकारी स्तर की वार्ता और छह अक्तूबर को टोक्यो में हुई मंत्री स्तर की बातचीत में तय बातों के अनुपालन का मौका दिया है।

क्वाड समूह के देशों में जापान (Japan), भारत (India), ऑस्ट्रेलिया (Australia) और अमेरिका हैं। इन देशों की रुचि एक है। वर्ष 2017 में इन चार देशों ने लंबित प्रस्ताव को रूप देकर क्वाड का गठन किया ताकि हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन के आक्रामक व्यवहार पर लगाम लगाया जा सके। अमेरिका और भारत दो बड़े लोकतांत्रिक देश हैं और दोनों ही चीन की विस्तारवादी नीतियों पर रोक लगाने के लिए काम कर रहे हैं। चीन के इसी आक्रामक रवैये का वियतनाम, मलेशिया, फिलीपीन्स, ब्रूनेई और ताइवान भी विरोध कर रहे हैं। क्वाड समूह में शामिल चारों देशों के विदेश मंत्रियों की पहली बैठक वर्ष 2019 में न्यूयार्क शहर में हुई।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021